Monday, 16 September 2019

Road safety study - सड़क सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदम

सुरक्षा एक महत्वपूर्ण पहलू बन गया है. क्योंकि हमें यह समझ विकसित करनी है कि सड़क सुरक्षा प्रत्येक नागरिक का अधिकार है, इसलिए इसे समझने के लिए, आज के लेख में, हमारी टीम ने सड़क सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदम, कैसे करे यातायात रस्ता सुरक्षा - yatayat rasta surksha kaise kare, रस्ता सुरक्षा के लिए छात्रों द्वारा Slogan, छात्रों को दिया जाये रस्ता सुरक्षा का ज्ञान, रस्ता सुरक्षा अभ्यास, यातायात के नियम का महत्व, यातायात के नियमों का पालन, स्कूल के छात्रों को समझाए Road Safety का महत्व, रस्ता सुरक्षा योजना - rasta surksha yajana, सभी जानकारी हिंदी में.

रस्ता सुरक्षा के लिए छात्रों द्वारा Slogan, यातायात के नियमों का पालन

बढ़ते हुए दुर्धटनाओं को देखते हुए, हमे यातायात सुरक्षा और उससे संबंध में शिक्षा प्रदान करके जन-जागृति करना जरूरी है. शहर, साथ ही देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते यातायात ने छात्रों के लिए सड़क सुरक्षा शिक्षा के महत्व को उजागर किया है. सड़क सुरक्षा के महत्व को देखते हुए, छात्रों की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित करने और सड़क सुरक्षा का विचार प्राप्त करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों द्वारा शिक्षा दी जाती है.

हालांकि, छात्रों के बीच सड़क सुरक्षा में भाग लेने के लिए माता-पिता, समुदाय, सरकार और नागरिक समाज के सभी संगठनों को बनाना महत्वपूर्ण है.


Road safety study - सड़क सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदम :

छात्रों को दिया जाये रस्ता सुरक्षा का ज्ञान -

“बच्चा जो यातायात नियमों और सड़क अनुशासन के बारे में सीखता है, वह एक कानून का पालन करने वाला नागरिक बन जाएगा, यातायात नियमों का पालन करने की आदत व्यक्ति को जिम्मेदारी, दूसरों के लिए सहानुभूति और दूसरे व्यक्ति के अधिकारों का सम्मान करने की भावना सिखाती है,"

अधिकारियों द्वारा समय-समय पर आयोजित सड़क सुरक्षा शिक्षा का उद्देश्य छात्रों को उन यातायात नियमों के बारे में जागरूक करना और उन्हें शिक्षित करना है, (जब वे सड़क पर हैं या नहीं, इसकी परवाह किए बिना चाहे वे पैदल चलने वाले हों या वाहन चलाने वाले हों,)

सड़क सुरक्षा शिक्षा छात्रों को सड़क पर सुरक्षा के महत्व को समझने में मदद करेगी,

जब पैदल यात्री या वाहन चलाने वाले के रूप में, तत्काल कार्रवाई करना भी महत्वपूर्ण है जैसे कि चिकित्सा या परिवहन सहायता के लिए अधिकारियों को बुलाना, आदि.


सड़क सुरक्षा शिक्षा का महत्व सिखाएं -

सड़क सुरक्षा शिक्षा विभिन्न स्तरों पर आयोजित की जा सकती है. इसके लिए माता-पिता, स्कूलों और शैक्षिक संस्थानों को सड़क सुरक्षा के महत्व के बारे में शिक्षित करने में भाग लेने की आवश्यकता है

परोपकार घर से आरंभ होती है. सड़क सुरक्षा के महत्व पर अपने बच्चों को शिक्षित करते हुए आपको इस नियम को अपनाने की आवश्यकता है. माता-पिता के रूप में, आपको ट्रैफ़िक नियमों के बारे में जानकारी रखने वाले और उनके द्वारा पालन करने वाले लोगों का एक अच्छा उदाहरण है.

✣ जैसे व्यस्त सड़क को पार करते समय, आप आमतौर पर अपने बच्चे को नहीं पकड़ते या उन्हें आगे बढ़ने या पीछे चलने की अनुमति नहीं देते हैं.

✣ उन्हें सिखाएं कि सड़क कब सुरक्षित है और कब नहीं, इसके बारे में जागरूक रहें,

✣ उन्हें ट्रैफ़िक से दूर रहने के लिए कहें,

✣ उन्हें ट्रैफिक नियमो का पालन कैसे करे यह दिखाएँ,

✣ इन सरल युक्तियों का पालन करने से आपके बच्चे व्यस्त सड़कों का अनुसरण करते हुए उत्सुक होंगे,

✣ सड़क पार करते समय, अपने बच्चों को सिखाएं कि एक सुरक्षित स्थान का चयन कैसे करें जिसके माध्यम से आप सड़क पार कर सकते हैं.

✣ यह तय करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करें कि क्या यह आगे बढ़ने के लिए सुरक्षित है. इसके अलावा, उन्हें विभिन्न ट्रैफ़िक संकेतों के बारे में भी सिखाएं,

Road safety study - सड़क सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदम

स्कूलों - शैक्षिक संगठनों के लिए -

✦ छात्रों को सड़क सुरक्षा के महत्व के बारे में अच्छी तरह से शिक्षित और सूचित करके स्कूलों को सड़क सुरक्षा सुनिश्चित करने में एक व्यापक भूमिका निभाने की आवश्यकता है.

✦ शिक्षा के अलावा, स्कूलों को स्कूल बस प्रबंधन प्रणाली जैसी नई तकनीकों को अपनाने की आवश्यकता है जो वर्तमान में उपलब्ध हैं.

✦ ये प्रौद्योगिकियां ऐसी होनी चाहिए कि वे अपने द्वारा संचालित स्कूल बसों को ट्रैक करने में स्कूलों की मदद करें, माता-पिता को वास्तविक समय की जानकारी भेजें और ड्राइविंग कर्मियों के व्यवहार को ट्रैक करें,

वाहन चुनते समय कुछ बातों पर ध्यान देना चाहिए -

स्कूल बसों में Breathalyzer का उपयोग -

दोस्तों इसके पहले भी Breathalyzer के बारे में विस्तृत जानकारी आपको रोड सेफ्टी के माध्यम से हमारे पिछले आर्टिकल में बताया गया है.

बस प्रबंधन प्रणाली का एक महत्वपूर्ण पहलू होना चाहिए,

शराब के स्वीकृत स्तर वाले ड्राइवरों को भी वाहन चलाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए क्योंकि सामान्य वाहनों की तुलना में स्कूल बस चलाना एक प्रमुख और संवेदनशील जिम्मेदारी है.

सुरक्षा सावधानियाँ -

सुनिश्चित करें कि आपके द्वारा चुनी गई सेवा के साथ आपको कोई भी फुटेज रिकॉर्डिंग तंत्र प्राप्त हो,

वाहन में लगे कैमरे वाहन की गति को ट्रैक करेंगे और यदि कोई हो तो दुर्घटना के सही कारण का पता लगाने में मदद करेगा, कैमरे भविष्य के उपयोग के लिए फुटेज को रिकॉर्ड करने में सहायक होंगे,

सुरक्षा के उपयोग किये जाने वाले तंत्र -

☛ ऐप की सुविधा -

इससे माता-पिता और साथ ही स्कूल प्रबंधन दोनों को स्कूल बसों पर नज़र रखने में मदद मिलेगी,

यह एक मोबाइल ऐप का उपयोग करके संभव है जो माता-पिता को वास्तविक समय के आधार पर वाहन की आवाजाही की निगरानी करने में मदद करेगा,

☛ ग्राहक सहेयता -

इसके अलावा, चयन करते समय, स्कूल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सेवा प्रदाता उच्च गुणवत्ता वाली वास्तविक समय की ग्राहक सेवा प्रदान करता है.

इस प्रकार, यह ऐसे चिकित्सा, पुलिस और संगठनात्मक मदद करने में सक्षम होना चाहिए, जो संभावित आपदाओं से बच सकें,

ग्राहक सेवा चौबीसों घंटे सक्रिय रहती है, और ऐसा नहीं है कि जब तक पुलिस, स्कूल, या अभिभावक वहां आकर कार्रवाई नहीं करेंगे, जब यह बोर्ड पर बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की बात आती है तो ग्राहक सेवा हमेशा एक कदम आगे होती है.

☛ गुणवत्ता बस प्रबंधन सेवा का चयन -

बस प्रबंधन सेवा चुनते समय, ऊपर चर्चा की गई सुविधाओं पर विचार करना महत्वपूर्ण है, जो उच्च गुणवत्ता वाली सड़क सुरक्षा सुनिश्चित करेगा, छात्रों को संभावित खतरनाक स्थितियों से बचाता है.

दोस्तों, उम्मीद है की आपको Road safety study - सड़क सुरक्षा के लिए उठाए जाने वाले कदम यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद...

हसते रहे - मुस्कुराते रहे.....

Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Insurance, Online Study, Health, Science, Biology, Economy, Career. 

संबंधित कीवर्ड :-
कैसे करे यातायात रस्ता सुरक्षा, रस्ता सुरक्षा के लिए छात्रों द्वारा Slogan, छात्रों को दिया जाये रस्ता सुरक्षा का ज्ञान, रस्ता सुरक्षा अभ्यास, यातायात के नियम का महत्व, यातायात के नियमों का पालन, Road Safety का महत्व, 

यह आर्टीकल जरूर पढ़े....

करियर कैसे बनाये ☟  
  यह भी पढ़े ☟
ApnaSandesh.Com से संबंधित अपडेट के लिए, हमसे ☛  फेसबुक पेज और ☛  ट्विटर पर जुड़ें तथा Follow करें और नवीनतम लेखों से जानकारी प्राप्त करें.

Sunday, 15 September 2019

RTO Officer Kaise Bane - आरटीओ में करियर कैसे बनाये

दोस्तों आज के लेख हम आपको RTO Officer Kaise Bane बताने जा रहे हैं. अगर आप भी आरटीओ ऑफिसर बनना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को जरूर पढ़े. RTO Adhikari Kaise Bane in Hindi, हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से पूरी जानकारी देंगे, तो चलिए जानते है RTO Officer Ke Liye Yogyata, RTO Ki Taiyari Kaise Kare, आरटीओ ऑफिसर की जानकारी, आरटीओ में करियर कैसे बनाये, आरटीओ ऑफिसर बनने के लिए क्या जरुरी है, कैसे बने आरटीओ ऑफिसर, आरटीओ ऑफिसर के कार्य, RTO में रोजगार के अवसर, सभी जानकारी हिंदी में.

RTO Officer Kaise Bane - आरटीओ में करियर कैसे बनाये

अगर आप सरकारी अधिकारी बनना चाहते हैं, तो सरकारी अधिकारी बनने के लिए आपको कड़ी मेहनत करना होगा तभी आप सरकारी अधिकारी बन सकते है. और ज्यादातर लोग चाहते हैं कि वह सरकारी नौकरी करे, लेकिन सरकारी नौकरी पाना इतना आसान नहीं है. उसके लिए मेहनत जरुरी है और हमें उम्मीद है की आप मेहनत जरूर करेंगे.

तो चलिए जानते है, RTO Adhikari Kaise Bane अगर आपका भी RTO ऑफिसर बनने का सपना रखते है, तो इस पोस्ट को शुरू से अंत तक पढ़ें,


RTO Officer Kaise Bane - आरटीओ में करियर कैसे बनाये :

सबसे पहले जान ले की RTO का पूर्ण विस्तृत नाम क्या है?

☘ RTO Full Form In English - (Regional Transport Officer)

☘ RTO Full Form In Hindi - (क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय)

☘ RTO Full Form In Marathi - (प्रादेशिक परिवहन अधिकारी)


RTO Ki Taiyari Kaise Kare - आरटीओ की तैयारी कैसे करे :

आरटीओ परीक्षा की तैयारी करने के लिए :


☛ आपको सभी सामयिकी (Current affairs) के बारे में पता होना चाहिए,

☛ सामयिकी (Current affairs) पर ध्यान देकर, इसके बारे में पूरी जानकारी पढ़ना होगा,

☛ तथा उम्मीदवार की सामान्य जागरूकता अच्छी होनी चाहिए,

☛ रोजाना सभी प्रकार के अखबार पढ़ना होगा, और ज्ञान प्राप्त करना होगा,

☛ तथा आपको अंग्रेजी, बेसिक गणित और सामान्य ज्ञान का अच्छा ज्ञान होना चाहिए,

आरटीओ के कार्य -

यदि कोई व्यक्ति नया वाहन खरीदता है, तो उसे कुछ आवश्यक कागजात प्राप्त करने होते है. इसके पहले भी हमने हमारे पिछले कुछ लेखो में इस बारे में बताया है की Driving Licenses कैसे बनाये? PUC कैसे बनाये? Road Safety का महत्व, आदि. तो चलिए जानिए है RTO के कार्य :-

ड्राइविंग लाइसेंस की जानकारी -

आरटीओ विभाग द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस दिया जाता है. यदि आप एक वाहन चलाते हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि ड्राइविंग लाइसेंस कितना महत्वपूर्ण है. ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए ड्राइवर को परीक्षण देना होता है. उन परीक्षणों को पास करने के बाद ही आपका ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त किया जाता है. अधिक जानकारी के लिए इसे पढ़ें ☛ ड्रायविंग लाइसेंस का उपयोग, पंजीकरण कैसे करे

वाहन पंजीकरण की जानकारी -

जब भी कोई व्यक्ति नया वाहन खरीदता है, तो उसे उस वाहन पर कानूनी अधिकार प्राप्त करने के लिए पंजीकृत होना पड़ता है. बिना नंबर प्लेट के गाड़ी चलाना गैरकानूनी है. वाहन पंजीकृत करना आरटीओ का कार्य है. अधिक जानकारी के लिए यह भी पढ़े ☛ भारतीय आरटीओ (RTO ) वाहन पंजीकरण

प्रदूषण परीक्षण की जानकारी -

वाहनों का प्रदूषण स्तर परीक्षण आरटीओ द्वारा किया जाता है. जिस वाहन से अधिक प्रदूषण होता है उसका लाइसेंस रद्द कर दिया जाता है. अधिक जानकारी के लिए यह भी पढ़े ☛ PUC सर्टिफिकेट क्या है कैसे बनाये

RTO Officer Kaise Bane - आरटीओ में करियर कैसे बनाये -

क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय एक भारतीय सरकारी संगठन है. जो ड्राइवरों का एक डेटाबेस बनाए रखते हैं. और भारत के विभिन्न राज्यों के लिए वाहनों का एक डेटाबेस रखता है, उन्हें आरटीओ अधिकारी (RTO Officer) कहा जाता है.

वाहनों का पंजीकरण भारत सरकार के एक विभाग द्वारा किया जाता है. RTO ऑफिसर बनने के लिए आपको कुछ योग्यताएँ पूरी करनी होंगी, तो चलिए जानते हैं RTO Officer Ke Liye Yogyata क्या होना चाहिए,

आरटीओ अधिकारी बानने के लिये योग्यता -

✦ महिला और पुरुष दोनों आरटीओ अधिकारी के लिए आवेदन कर सकते हैं,

✦ RTO ऑफिसर बनने के लिए आवेदक को 10 वीं पास होना अनिवार्य है,

✦ अगर आप इसमें और भी ऊँचा स्थान पाना चाहते हैं, तो किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक उत्तीर्ण होना चाहिए,

✦ तथा Automobile engineering या Mechanical Engineering में डिग्री प्राप्त करके आप आरटीओ अधिकारी बन सकते है.


आरटीओ अधिकारी के लिए आयु सीमा -

✦ आरटीओ अधिकारी के लिए आयु सीमा 21 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए,

✦ ओबीसी उम्मीदवारों के लिए 3 साल तक की छूट मिलती है,

✦ SC - ST आवेदकों को 5 साल की छूट मिलती है,

आरटीओ अधिकारी बानने के लिये क्या जरुरी है -

✬ RTO बनने के लिए, आपको पहले आवेदन करना होगा,

✬ RTO परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए, आपको 2 परीक्षा देनी होगी, और उसके बाद आपका एक साक्षात्कार भी होता है. जिसे आपको पास करना होता है.

लिखित परीक्षा -
लिखित परीक्षा - यह परीक्षण 2 घंटे का होता है.


इसका पेपर 200 अंकों का होता है. इसमें आपसे राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वर्तमान घटनाओं, भारत का इतिहास, भूगोल, आर्थिक और सामाजिक विकास, पर्यावरण और पारिस्थितिकी, सामान्य विज्ञान, ☛ Current GK और अंग्रेजी भाषा के प्रश्न पूछे जाते हैं.

शारीरिक परीक्षण -

लिखित परीक्षा के बाद, आपका शारीरिक परीक्षण होता है. इसके लिए शारीरिक रूप से फिट रहना आवश्यक है.

साक्षात्कार - interview : 

दोनों परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने के बाद, आपका साक्षात्कार होता है. जिसमें आपको आपकी बुद्धि, क्षमता, मूल्यों और गुणों के आधार पर परखा जाता है.

इसे पास करने के बाद, आप आरटीओ अधिकारी के लिए चयन किया जाता हैं.

आरटीओ अधिकारी परीक्षा सिलेबस और उचित वेतन -

RTO परीक्षा देने के लिए, इसके सिलेबस को जानना आवश्यक है. उसके बाद, आप इसका अध्ययन कर सकते हैं.

⛢ सामान्य ज्ञान (General knowledge) - History, Geography, Science, Economy, The Polity, Environmental and Energy, Other.

⛢ सामान्य राज्य की भाषा (State language) - Hindi, English, Marathi, and Other.

⛢ सामान्य अंग्रेजी (General English),

⛢ वैकल्पिक विषय (Optional subject),

आरटीओ अधिकारी की सैलरी -

☞ आरटीओ अधिकारी के वेतन में कई रैंक शामिल हैं. और यह उनकी रैंक के अनुसार बदलता रहता है.

☞ आरटीओ अधिकारी का शुरुआती वेतन लगभग रु. 20,000/- से सुरु होकर उसके अनुभव और कार्य के अनुसार बढ़ते रहता है.

☞ तथा RTO अधिकारी का वेतन अनुभव के आधार पर रु. 20,000/- से रु. 40,000/- तक अलग-अलग होता है.
दोस्तों, उम्मीद है की आपको RTO Officer Kaise Bane - आरटीओ में करियर कैसे बनाये, यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद...

हसते रहे - मुस्कुराते रहे.....

Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Insurance, Online Study, Health, Biology, Economy, Career, Safety. 

संबंधित कीवर्ड :-
RTO ऑफिसर कैसे बने, RTO Adhikari Kaise Bane in Hindi, RTO Officer Ke Liye Yogyata, RTO Ki Taiyari Kaise Kare, कैसे बने आरटीओ ऑफिसर, RTO में रोजगार के अवसर,

यह आर्टीकल जरूर पढ़े....

करियर कैसे बनाये ☟  
  यह भी पढ़े ☟
ApnaSandesh.Com से संबंधित अपडेट के लिए, हमसे ☛  फेसबुक पेज और ☛  ट्विटर पर जुड़ें तथा Follow करें और नवीनतम लेखों से जानकारी प्राप्त करें.

Friday, 13 September 2019

black box system - ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे

क्या आप जानते है की वाहन के सड़क सुरक्षा के लिए नई तकनीक का आविष्कार हुआ है? अगर नहीं तो, फिर जान लेते है की. ब्लैक बॉक्स क्या है - What is a black box?, वाहन ब्लैक बॉक्स सिस्टम क्या है - vahan black box system kya hai?, ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे - black box ka upyog kaise kare, ब्लैक बॉक्स से वाहन की सुरक्षा कैसे होती है, black box ki visheshtaye, A black box is in fact ट्रैकिंग सिस्टम, black box से करे वाहन की निगरानी, black box एक सुरक्षा डिवाइस, Information in Hindi.

black box system - ब्लैक बॉक्स से वाहन की सुरक्षा कैसे होती है, black box ki visheshtaye,

बदलते युग में Technology का आविष्कार इतना हो रहा है, की हर क्षेत्र में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कार्य किए जाते है. तथा आप जानते ही है की हमारे भारत वर्ष में गलत ड्राइविंग या नियमो के गलत उपयोग से दुर्धटनाए अधिक संख्या में हो रही है, इससे कुछ सिमित तक बचने के लिए वाहन के निगरानी तथा सुरक्षा संबंधी जानकारी के लिए ब्लैक बॉक्स सिस्टम का निर्माण किया है. यह प्रणाली वाहन के सभी कार्यो पर निगरानी रखती है. तो चलिए दोस्तों जानते है क्या है ''ब्लैक बॉक्स प्रणाली'' का उपयोग.


black box system - ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे :

A black box is in fact ट्रैकिंग सिस्टम - वाहन ब्लैक बॉक्स :

वाहन ब्लैक बॉक्स एक परम वाहन ट्रैकिंग सिस्टम है जो वाहन और उसमे रहने वालों की सुरक्षा और सावधानी को ध्यान में रखते हुए वाहन के प्रदर्शन और ड्राइवर के व्यवहार की निगरानी के लिए डैशबोर्ड पर स्थित होता है.

ब्लैक बॉक्स ट्रैकिंग सिस्टम :-

ट्रैक ऑन डिमांड,
उच्च शराब चेतावनी (मानार्थ),
ओवर स्पीड अलार्म,
फुटेज रिकॉर्डिंग,
एसएमएस - एपीपी के माध्यम से इंजन स्थिरीकरण,


✣ ब्लैक बॉक्स सिस्टम रैश ड्राइविंग, दुर्घटनाओं के दौरान सहायता, आपके वाहन के साथ-साथ लोगों को सुरक्षा और सुरक्षा के मुद्दों को हल करने पर केंद्रित हैं.

✣ वाहन ब्लैक बॉक्स को विशेष रूप से सुरक्षा और सावधानी को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है और इसमें कुछ अनोखे और विशेष फीचर्स जोड़े गए हैं जैसे कि ब्रेथ एनालाइजर (Breath analyzer) जिसका मुख्य उद्देश्य ड्राइवर के अल्कोहल स्तर का पता लगाना है.

✣ अगर ड्राइवर ने शराब का सेवन अनुमेय सीमा से अधिक कर दिया है तो वाहन प्रज्वलन बंद हो जाता है जिससे ड्राइवर को गाड़ी चलाने की अनुमति नहीं मिलती है.

✣ ब्रेथ एनालाइजर (Breath analyzer) क्या है और यह प्रणाली कैसे काम करती तथा इसका उपयोग कैसे होता है इस संबंधी सभी जानकारी हमने प्रकाशित की है. इसकी पूरी जानकारी (Read here) यहां पढ़े ☚.

Black Box की विशेषताएं -

☘ इसमें कुछ विशेष विशेषताएं भी हैं जो वाहन की गति और त्वरण का पता लगाती हैं और तेज घुमावों के साथ-साथ ओवर स्पीडिंग आदि की विस्तृत रिपोर्ट देती हैं.

☘ सिग्नल और साइनबोर्ड का भी पता लगाया जाता है और यदि उन्हें तोड़ा जाता है तो इस वाहन ट्रैकिंग सिस्टम द्वारा वाहन मालिक को एक सूचना दी जाती है.

☘ यह एक थेफ्ट मॉनिटरिंग सिस्टम से भी लैस है जो वाहन को चोरी होने से रोकता है. तथा इसे एसएमएस भेजकर वाहन के प्रज्वलन को नियंत्रित किया जा सकता है.


☘ डिवाइस में लगे कैमरे ड्राइवर के व्यवहार को जानने में मदद करते हैं, यह वाहन के अंदर और बाहर की लाइव वीडियो फुटेज देता है. इसमें पैनिक और पुश टू कॉल बटन भी होता है जो आपातकाल के समय में सहायक होता है. पैनिक बटन क्या है और इससे रिलेटेड जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे ☚.

☘ कार बीमा (Car insurance), (third party car insurance), (car insurance companies) एक विशाल कार्य की तरह महसूस कर सकता है.

☘ यही कारण है कि ब्लैक बॉक्स यह तय करने के लिए कि यह सबसे अच्छा विकल्प है, ब्लैक बॉक्स इंश्योरेंस के लाभों को एक साथ रखता है.

black box system - ब्लैक बॉक्स बीमा का लाभ :

यह आपको एक बेहतर ड्राइवर बना सकता है -

ब्लैक बॉक्स आपकी गति को मापने में मदत करता हैं, आप कितनी तेजी से बढ़ते हैं, ब्रेकिंग व्यवहार करते हैं और आप किस समय ड्राइव करते हैं. इस बात के प्रति सचेत रहना कि आपका ड्राइविंग आपके स्कोर को कैसे प्रभावित करता है और आप अपनी कार बीमा (insurance) के लिए क्या भुगतान करते हैं, यह निश्चित रूप से बदल जाएगा कि आप ड्राइविंग के बारे में कैसा महसूस करते हैं. इसका मतलब है कि समय के साथ आपकी ड्राइविंग में सुधार होगा, क्योंकि आप अपने स्कोर को बेहतर बनाने की कोशिश करेंगे.


अगर आप किसी दुर्घटना में हैं तो साक्ष्य -

ब्लैक बॉक्स के बारे में सबसे अच्छी चीजों में से एक यह है कि उनका उपयोग यह साबित करने के लिए किया जा सकता है कि दुर्घटना में गलती किसकी थी, यदि दूसरा ड्राइवर निर्णय लेता है कि वे जिम्मेदारी स्वीकार नहीं करना चाहते हैं, तो आप अपने ब्लैक बॉक्स बीमा प्रदाता से डेटा की जांच करने के लिए पूछ सकते हैं कि वास्तव में क्या हुआ था.

कार खो गई हैं या चोरी हो गई हैं तो आप अपनी कार का पता लगा सकते हैं -
हालांकि इसकी संभावना नहीं है कि आप अपनी कार खो देंगे, लेकिन आपकी गाड़ी चोरी हो जाती है तो ब्लैक बॉक्स शानदार होते हैं. ब्लैक बॉक्स प्रदाता - जैसे कि वाइस ड्राइविंग - यह ट्रैक कर सकता है कि आपका वाहन जीपीएस (GPS) के माध्यम से कहां है और सही लोगों को उसके स्थान पर सूचित कर सकते है. यह जानकर थोड़ा सुकून मिलता है कि अगर ऐसा कुछ होना चाहिए और चोर पकड़ा जा सकता है.

आपके पैसे बचा सकता है -

आप जितना सुरक्षित ड्राइव करेंगे, आपको उतना ही कम भुगतान करना पड़ेगा. जिस तरह से आप ड्राइव करते हैं, उसे एक स्कोर दिया जाता है, जो आपके बीमा प्रदाता (insurance provider) से पैसे वापस प्राप्त कर सकता है यदि यह एक अच्छा है. Other wise ड्राइविंग में, आपके ड्राइविंग स्कोर की गणना 100 में से करते हैं - यह तब प्रभाव डालता है कि आप अपने बीमा के लिए कितना भुगतान करते हैं.

बेशक, यह महत्वपूर्ण है कि आप जांच करें कि आपके द्वारा चुनी गई नीति के साथ क्या पुरस्कार आते हैं.


यह पता लगा सकता है कि क्या आपके साथ कोई दुर्घटना हुई है -

आपके ब्लैक बॉक्स ट्रैक, जहां आप ड्राइविंग कर रहे हैं और वाइस ड्राइविंग के टेलीमैटिक्स बॉक्स (Telematics box) में एक दुर्घटना चेतावनी सुविधा शामिल है, जो बताती है कि क्या आप एक निश्चित जी-फोर्स से टकराव में शामिल थे, यदि ऐसा होता है, तो आपसे यह पता लगाने का प्रयास करते है कि क्या आप ठीक हैं.

कृपया ध्यान दें, यह सुविधा केवल तभी उपलब्ध है जब आपके पास अपनी कार में एक ब्लैक बॉक्स स्थापित हो.

आपका डेटा हमेशा निजी और सुरक्षित होता है -

✦ जब ब्लैक बॉक्स की घोषणा की गई, तो बहुत से लोगों ने चिंता जताई कि वे मूल रूप से ‘बिग ब्रदर’ की तरह  नज़र तो नहीं रखेंगे या निगरानी या Privacy को चुरा तो नहीं लेंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं यह बिलकुल सुरक्षित रूप से दायर किया जाता है और केवल तब उपयोग किया जाता है जब जरूरत होती है.

✦ इसे किसी अन्य के साथ साझा नहीं किया जाता है जब तक कि यह एक दावे के उद्देश्य के लिए नहीं है, या यदि पुलिस किसी घटना के बाद इसका अनुरोध करती है,

✦ केवल आपके और आपके बीमाकर्ता द्वारा देखा जा सकता है.

✦ आपको ब्लैक बॉक्स को बनाए रखने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि यह आपके ड्राइविंग को पृष्ठभूमि में ट्रैक करता है.


दोस्तों, उम्मीद है की आपको black box system - ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद...

हसते रहे - मुस्कुराते रहे.....

Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Insurance, Online Study, Health, Biology, Economy, Career, Safety. 

संबंधित कीवर्ड :-
ब्लैक बॉक्स क्या है - What is a black box?, वाहन ब्लैक बॉक्स सिस्टम क्या है, ब्लैक बॉक्स का उपयोग कैसे करे, ब्लैक बॉक्स से वाहन की सुरक्षा कैसे होती है, A black box is in fact ट्रैकिंग सिस्टम, black box एक सुरक्षा डिवाइस,

यह आर्टीकल जरूर पढ़े....

करियर कैसे बनाये ☟  
  यह भी पढ़े ☟
ApnaSandesh.Com से संबंधित अपडेट के लिए, हमसे ☛  फेसबुक पेज और ☛  ट्विटर पर जुड़ें तथा Follow करें और नवीनतम लेखों से जानकारी प्राप्त करें.

Thursday, 12 September 2019

Panic Button - wireless panic button system - पैनिक बटन का उपयोग कैसे करे

दोस्तों जैसा की हमने पिछले लेख में यातायात के नए नियम और FASTag के बारे में बताया है. तो चलिए जानते है इस लेख में रोड सेफ्टी के महत्व और वाहनों में पैनिक बटन होने के लाभ - panic button ke labh, Panic button क्या है, पैनिक बटन का उपयोग कैसे करे - panic button ka upyog kaise kare, पैनिक बटन कैसे काम करता है - panic button kam kaise karta hai, पैनिक बटन कहा होती है, panic button alarm के लाभ, पैनिक बटन का इस्तेमाल कैसे करे, वाहन ब्लैक बॉक्स क्या है, सभी जानकारी in Hindi.

Panic Button - wireless panic button system - पैनिक बटन का इस्तेमाल कैसे करे

पैनिक बटन ऐसे उपकरणों का एक वर्ग है जो लोगों को संभावित आपातकाल में सचेत करने के लिए उपयोग किया जाता है. पैनिक बटन को एक उपयुक्त जगह पर रखा जाता है. यह सिस्टम Panic button jewelry, वाहनों तथा अन्य जरुरत ठिकानों पर सुरक्षा के लिए इस्तेमाल होता है.

पैनिक बटन मुख्य निगरानी उपकरण के माध्यम से अलार्म या घंटी के माध्यम से जुड़ा होता है, जो स्थिति के बारे में दूसरों का ध्यान आकर्षित करने के लिए, कभी-कभी उपयोगकर्ता के ठिकाने को परिवार या दोस्तों को भेजता है.


Panic Button - wireless panic button system - पैनिक बटन का उपयोग कैसे करे

पैनिक बटन कैसे काम करता है -

व्यक्तिगत नुकसान से उपयोगकर्ता की सुरक्षा (एक शारीरिक या मानसिक रूप से - भावनात्मक रूप से चोट पहुंचाना) सहित व्यापक उपयोग में पैनिक बटन का उपयोग किया जाता है. आमतौर पर पैनिक बटन का इस्तेमाल Business campuses, educational institutions, patient campuses, hospitals, homes and labs में किया जाता है.

वाहनों में पैनिक बटन होने के लाभ -

कार में पैनिक बटन वह है जो एक समान कार्य करता है. आपकी कार में पैनिक बटन ड्राइवर के पास डैशबोर्ड पर स्थित हो सकता है. या, दरवाजे के पास के क्षेत्र, या सीटों के पास या किसी अन्य सुविधाजनक स्थान पर, यह कार के लोगों के लिए आपातकालीन स्थिति में इसे एक्सेस करना और उपयोग करना आसान बनाता है.

यदि आपकी कार में पैनिक बटन है, तो यह आपको अप्रिय घटनाओं के खिलाफ अपनी कार में अपने परिवार और दोस्तों की सुरक्षा करने में मदद करता है.

एक कार में पैनिक बटन का उपयोग बिल्कुल आसान है - जब आपको कोई आपात स्थिति आती है तो आपको इसे ट्रिगर करने की आवश्यकता होती है. जल्द ही पुलिस सहित सभी लोग (जो आपकी मदद कर सकते हैं) तत्काल कदम उठाने के लिए आयेंगे.


पैनिक बटन - Panic Button - wireless panic button system

आज हर कार के साथ पैनिक बटन दिया होता है. डैशबोर्ड में अलार्म बटन सन्निहित होती है. डैशबोर्ड चालक के करीब है, और जाहिर है, चालक को संभावित सड़क दुर्घटना की स्थिति में इसका उपयोग करने का विशेषाधिकार होगा.

इसके अलावा, बटन को ट्रिगर करने की संभावना केवल चालक के पास होती है. और, कुछ मामलों में, चालक वाहन में सवार लोगों की आवश्यकता को महसूस नहीं कर सकता है.

उदा. यदि बुजुर्ग लोग, महिलाएं या बच्चे यात्रा के दौरान आपकी कार में होते हैं, तो उनमें से प्रत्येक के पास अपने स्वास्थ्य के लिए जरूरतों का एक अलग सेट या यात्रा के संबंध में सामान्य भावना होती है. इस प्रकार, पारंपरिक बटन जरूरत कार मालिकों - यात्रियों को संबोधित करने में विफल रहता है.

Panic Button - wireless panic button system कैसे संबोधित करें?

☛ ट्रिगर को सभी के लिए पहुंच योग्य बनाने के लिए, कार को इस तरह से सुसज्जित किया जाना चाहिए कि कार में किसी के द्वारा भी पैनिक बटन को ट्रिगर किया जा सके, चाहे वे जहां भी हों.

☛ इसका मतलब यह है कि कार के पूरे body में कई स्थानों पर पैनिक बटन को ठीक से लगाया जा सकता है. (दरवाजे के पास, सीट के पास, या कार की छत पर) यह किसी के लिए भी इसे ट्रिगर करना आसान बनाता है.

☛ यह भी महत्वपूर्ण है कि प्रत्येक बिंदु को इंजन प्रणाली से जोड़ा जाना चाहिए ताकि यह आपातकालीन स्थिति में कार को जब और जिस तरह से रोक सके.

☛ भले ही कार एक निजी हो, या सार्वजनिक वाहन, कई स्थानों पर पैनिक बटन नहीं होने से कार के पीछे के क्षेत्र में लोगों को इनकार कर दिया जाता है, इसलिए उनकी सुरक्षा नहीं होती.

☛ सार्वजनिक परिवहन वाहनों (टैक्सी, बस, आदि) में कार के लिए के रूप में, उन्हें वाहन में कई बिंदुओं पर तय ट्रिगर के साथ पैनिक बटन से लैस किया जाना चाहिए,


Cyrrup डिवाइस - व्हीकल ब्लैक बॉक्स

Cyrrup आपकी सुरक्षा और सुरक्षा चिंताओं के लिए स्मार्ट समाधान के साथ एक सरल, सुविधाजनक और उपयोगकर्ता के अनुकूल वाहन ट्रैकिंग सिस्टम प्रस्तुत करता है. आपकी कार में सुसज्जित, सिस्टम कई ट्रिगर बिंदुओं के साथ प्रदान करता है.

इस प्रकार, जब आप सिस्टम को ट्रिगर करते हैं, तो यह Cyrrup के कॉल सेंटर (Call center) को सचेत करेगा, जो किसी घातक घटना की स्थिति में समय पर अस्पताल पहुंचने में आपकी मदद कर सकता है, पुलिस को कॉल करें ताकि जरूरत पड़ने पर वे आवश्यक कानूनी प्रक्रिया अपना सकें.

Cyrrup के वाहन ट्रैकिंग सिस्टम -

Cyrrup का वाहन ब्लैक बॉक्स वह है जो आपको अपने विकल्पों को अनुकूलित करने में सक्षम बनाता है - आप ट्रिगर द्वारा भेजे गए जवाब को चुन सकते हैं.

उदा, यदि बुजुर्ग परिवार के सदस्य अक्सर आपकी कार पर सवार होते हैं, तो आप स्वास्थ्य मुद्दे की स्थिति में परिवार के किसी भी सदस्य को चेतावनी भेज सकते हैं ताकि वे उचित उपाय कर सकें.

✦ या, आप Cyrrup के कॉल सेंटर के माध्यम से चिकित्सा सहायता और पुलिस को अलर्ट भेजने का विकल्प चुन सकते हैं, जो पुलिस और नामित अस्पतालों को अलर्ट भेजता है.

✦ इस प्रकार, Cyrrup का कॉल सेंटर किसी निर्दिष्ट अस्पताल या पुलिस को प्रमाणित और पुनर्निर्देशित करता है क्योंकि वे उपयुक्त हो सकते हैं.

✦ Cyrrup का 24 × 7 कॉल सेंटर अंतिम उपयोगकर्ता और अधिकारियों जैसे कि अस्पताल, पुलिस और प्रभावित लोगों के परिवार और दोस्तों के बीच समन्वय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.


✦ इसके अलावा, सार्वजनिक परिवहन में प्रयुक्त कारों के लिए, वे अस्पतालों या पुलिस को अलर्ट भेजने के विकल्प के लिए जा सकते हैं. बेशक, यह ट्रैकिंग सिस्टम (Tracking system) बड़े प्रबंधन के साथ संगत है.

Cyrrup - ट्रैकिंग सिस्टम के अंतिम शब्द -

✣ यात्रा के दौरान महिला सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए भी पैनिक बटन का उपयोग किया जा सकता है.

✣ यदि ड्राइवर गलत दिशा-निर्देश दे रहा है या गलत दिशा-निर्देश दे रहा है, तो महिलाएं अपने स्थान को सूचित करने और अपने वाहन को तुरंत ट्रैक करने के लिए इस पैनिक बटन का उपयोग कर सकती हैं.

✣ जब पैनिक बटन दबाया जाता है, तो वह वाहन के स्थान को Cyrrup के कॉल सेंटर (Call center) में भेजता है और वाहन का लाइव स्थान भेजता है.

✣ Cyrrup का कॉल सेंटर, बदले में, परिवार - दोस्तों या पुलिस स्टेशन को भयावह स्थिति के बारे में सूचित करता है, जिससे यात्रियों को किसी भी खतरे से बचाया जा सकता है. प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करने पर इसका उपयोग किसी के द्वारा भी किया जा सकता है. जिससे यात्रा पर सभी यात्रियों को सुरक्षा प्रदान की जा सके.


दोस्तों, उम्मीद है की आपको Panic Button - wireless panic button system - पैनिक बटन का उपयोग कैसे करे यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद...

हसते रहे - मुस्कुराते रहे.....

Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Insurance, Online Study, Health, Biology, Economy, Career, Safety. 

संबंधित कीवर्ड :-
वाहनों में पैनिक बटन होने के लाभ क्या है, पैनिक बटन का उपयोग कैसे करे, पैनिक बटन कैसे काम करता है, पैनिक बटन कहा होती है, पैनिक बटन के लाभ, पैनिक बटन का इस्तेमाल कैसे करे, वाहन ब्लैक बॉक्स क्या है, वाहन में ट्रैकिंग सिस्टम क्यों होना चाहिए?,

यह आर्टीकल जरूर पढ़े....

करियर कैसे बनाये ☟  
  यह भी पढ़े ☟
ApnaSandesh.Com से संबंधित अपडेट के लिए, हमसे ☛  फेसबुक पेज और ☛  ट्विटर पर जुड़ें तथा Follow करें और नवीनतम लेखों से जानकारी प्राप्त करें.

Wednesday, 11 September 2019

Breathalyzer and alcohol sensor - अल्कोहल सेंसर लगाने के लाभ

दोस्तों जैसा की ''अपना संदेश'' द्वारा सड़क सुरक्षा (Road Safety) संबंधी कई लेख प्रकाशित किए है. और आज के इस लेख में हम सड़क सुरक्षा संबंधी - वाहनों में अल्कोहल सेंसर कैसे काम करते हैं? अल्कोहल सेंसर का कार्य,  अल्कोहल सेंसर लगाने का तरीका, अल्कोहल सेंसर का उपयोग कैसे करे, Breathalyzer कैसे काम करता है? कार में अल्कोहल सेंसर लगाने के क्या लाभ हैं? Breathalyzer क्यों महत्वपूर्ण है? सड़क सुरक्षा सेंसर का कार्य, वाहन ब्लैक बॉक्स का उपयोग? मॉनिटर ड्राइविंग व्यवहार क्या है, सुरक्षित पार्किंग क्या है? info in Hindi.

Breathalyzer and alcohol sensor - अल्कोहल सेंसर लगाने के लाभ

भारत में वाहन दुर्घटनाएं अधिक बढ़ गई हैं - हर 6 मिनट में सड़क दुर्घटना में इंसान अपनी जान खो देते है. अल्कोहल एंड ड्रग इंफॉर्मेशन सेंटर - Alcohol & Drug Information Center (ADIC) के शोध से पता चलता है कि भारत में लगभग 40% सड़क दुर्घटनाएँ शराब के प्रभाव के कारण हो रही हैं.


Breathalyzer and alcohol sensor - अल्कोहल सेंसर लगाने के लाभ

अल्कोहल सेंसर का उपयोग कैसे करे -

नशे में गाड़ी चलाना जानलेवा और वाहन के नुकसान के लिए एक घातक दुर्घटना के जोखिम को बढ़ाता है. रक्त और अल्कोहल एकाग्रता (बीएसी) 30mg / dl से अधिक होने पर जोखिम काफी अधिक होता है. कभी आपने सोचा है कि क्या कोई सुरक्षा सुविधा है जिसे आप अपनी कार में स्थापित कर सकते हैं, जो संभावित दुर्घटनाओं को रोकने में आपकी मदद करेगी?

अगर कोई ऐसा सिस्टम आ जाए जो आपकी आंखों की पलक झपकने के पहले आपकी जान और आपके प्रियजनों के साथ-साथ आपके वाहन को भी बचा सके, हां यह सच है. क्योंकि, दुर्घटना को रोकने के लिए ''अल्कोहल सेंसर'' बेहत महत्वपूर्ण है. तो चलिए दोस्तों सड़क सुरक्षा अल्कोहल सेंसर के बारे में जानते है.

''अल्कोहल सेंसर'' एक उपकरण जो संभावित दुर्घटनाओं को रोकने में मदद कर सकता है वह ड्राइवर के अल्कोहल स्तर का पता लगाता है. इस लेख को पढ़ने के बाद, आप इस अल्कोहल सेंसर को कारों में स्थापित करने पर विचार कर सकते हैं


अल्कोहल सेंसर कैसे काम करते हैं?

एल्कोहल लेवल का पता लगाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला उपकरण ब्रीथलीज़र (Breathalyzer) के नाम से भी जाना जाता है. इस लेख में हम जिस उपकरण पर चर्चा करने जा रहे हैं वह डैशबोर्ड पर बैठता है और इन-कार ब्रीथलाइज़र की तरह कार्य करता है. यह एक इंटरलॉकिंग इग्निशन सिस्टम (Interlocking ignition system) का गठन करता है और नशे में वाहन चालकों को वाहन इंजन शुरू करने की क्षमता से वंचित करता है.

Breathalyzer कैसे काम करता है?

सिस्टम में BAC है जो आपके लोकेल में वैधानिक अधिकारियों द्वारा पूर्वनिर्धारित है. जब कारों में अल्कोहल सेंसर अनुमेय सीमा से परे शराब को पहचानते हैं, तो इंटरलॉक डिवाइस (Interlock device) आपके वाहन को अधिकारियों द्वारा निर्धारित अवधि के लिए लॉक कर देता है.

Breathalyzer आपके लिए क्यों महत्वपूर्ण है?

☛ यदि आप शराब के नशे में वाहन चलाने के दौरान दुर्भाग्यपूर्ण घटना में, अपने वाहन चला रहे हैं, तो आपको चुनौतीपूर्ण ट्रेल्स से गुजरना होगा,

☛ सप्ताह के दौरान फैली हुई, कानून के अनुसार, यदि आपको 0.03% या उससे अधिक BAC पाया जाता है, तो आप नशे में ड्राइविंग में फंस सकते हैं.

☛ और, नशे में गाड़ी चलाना एक आपराधिक अपराध है क्योंकि आपने कानून का उल्लंघन किया है.

☛ हो सकता है कि आप पर जुर्माना लगाया जाए या आपस में भिडंत हो जाए.


☛ यदि आपका भाग्य अनुकूल नहीं है, तो आपको छह महीने के लिए जेल जा सकते है. या, शायद एक साल के लिए भी,

☛ इस सब पर चर्चा करने का महत्व यह है कि जब आप नशे में गाड़ी चलाने का आरोप लगाते हैं, तो आपका नाम अधिकारियों के रिकॉर्ड में जाता है और चौकस नतीजे आते हैं - (पारिवारिक और सामाजिक रिश्तों में तबाही, फ़ोकस और नुकसान)

Breathalyzer and alcohol sensor - अल्कोहल सेंसर लगाने के लाभ

Breathalyzer and alcohol sensor - अल्कोहल सेंसर लगाने के लाभ

✦ जीवन को बचाने और अपने वाहन को नुकसान को रोकने के अलावा, आपको आर्थिक रूप से लाभ होने की संभावना है.

✦ आपकी कार बीमाकर्ता (Insurer) को आपके बीमा (Insurance) पर छूट की पेशकश करने की संभावना है. यह संभावित पीने वालों के लिए एक मनोवैज्ञानिक (Psychologist) नमनीय हो सकता है.

वाहन में ब्लैक बॉक्स का विकल्प क्यों चुनना चाहिए?

✣ वाहन ब्लैक बॉक्स आज भारत में उपलब्ध एक विश्वसनीय और महत्वपूर्ण वाहन ट्रैकिंग सिस्टम (Tracking system) है.

✣ आपकी कार के डैशबोर्ड पर स्थापित, यह वाहन चलाते समय प्रदर्शन और चालक के व्यवहार की निगरानी करता है और वाहन पर सवार लोगों के लिए संभावित खतरे को रोकने का ख्याल रखता है.

✣ दुर्घटना की स्थिति में रैश ड्राइविंग और अपने प्यारे और अपने वाहन को सुरक्षा और सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद करता है.


✣ वाहन ब्लैक बॉक्स आपकी कार में संचालित होने के दौरान सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है और आपको सुरक्षित रूप से गंतव्य तक पहुंचने में मदद करता है. इसके लिए सिस्टम में एक्सक्लूसिव फीचर्स जोड़े गए हैं.

✣ इनमें Breathalyzer, डिवाइस शामिल है जो उपयोगकर्ता (ड्राइवर) में शराब के स्तर का पता लगाता है. और अगर आपका ड्राइवर सुरक्षित सीमा से अधिक शराब का सेवन करता है, तो आपकी कार में लगी इग्निशन लॉकिंग (Ignition locking) डिस्कनेक्ट हो जाती है.

अल्कोहल डिटेक्शन के अलावा व्हीकल ब्लैक बॉक्स और क्या कर सकता है?

चालन व्यवहार -

सिस्टम की अनूठी विशेषताएं, गति के गति और उपयोग से संबंधित ड्राइवर के व्यवहार को मॉनिटर करती है.

आपको ड्राइवर के अनुचित व्यवहार जैसे कि ट्रैफ़िक सिग्नलों को अनदेखा करना आदि के बारे में तुरंत अलर्ट मिलता है. वाहन ट्रैकिंग सिस्टम सिग्नल और साइनबोर्ड दिखाता है कि आपका वाहन अतीत में चला गया था और उल्लंघन के मामले में आपको अलर्ट करता था.

सुरक्षित पार्किंग और फुटेज रिकॉर्डिंग -

✾ जब आप आउटिंग पर होते हैं, तो किसी पहचाने गए स्थान पर वाहन पार्क करें और निश्चिंत रहें क्योंकि यह वाहन ट्रैकिंग सिस्टम आपके वाहन को चोरी करने से रोकता है.


✾ यात्रा से वापस, डिवाइस आपको पार्किंग में अपनी कार का पता लगाने में मदद करता है.

✾ वाहन ब्लैक बॉक्स कुछ कैमरों के साथ आता है - प्राथमिक कैमरा और द्वितीयक, आपका वाहन जिस सड़क पर चलता है, उसका पहला कैमरा वीडियो रिकॉर्ड करता है.

✾ क्षति क्षतिपूर्ति या बीमा दावों (Insurance claims) के लिए अनुचित मांगों का खंडन करने में वीडियो काफी मददगार है. और, माध्यमिक कैमरा वाहन के अंदर रिकॉर्ड करता है, इस प्रकार आपको ड्राइविंग व्यवहार के साथ-साथ यात्री की सुरक्षा की निगरानी करने में मदद करता है.

आपातकाल में मदद करता है -

✧ वाहन ब्लैक बॉक्स ड्राइविंग समुदाय के साथ-साथ वाहन मालिकों के लिए भारी मात्रा में आवेदन प्राप्त कर सकता है ताकि ड्राइविंग, किसी भी अन्य विकृत चालक व्यवहार या किसी अन्य कारण से होने वाली दुर्घटनाओं और दुर्घटनाओं को रोका जा सके,

✧ इसके अलावा, किसी भी परिश्रम के मामले में - वाहन के टूटने, प्राकृतिक आपदा, प्रभावित लोगों के बचाव में मदद करने से सिस्टम बहुत आगे बढ़ सकता है.

✧ ऐसी अप्रत्याशित स्थिति के तहत, सिस्टम समय-समय पर सहायता सुनिश्चित करने के लिए आपके स्थान को परिवार या दोस्तों के साथ-साथ सिरुप के सहायता स्टेशन तक पहुंचाता है.

✧ जैसा कि सिस्टम Cyrrup के कॉल सेंटर के साथ सिंक्रनाइज़ है, यह आपातकालीन स्थिति में सहायता प्राप्त करने में सक्षम बनाता है.


दोस्तों, उम्मीद है की आपको Breathalyzer and alcohol sensor - अल्कोहल सेंसर लगाने के लाभ यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद...

हसते रहे - मुस्कुराते रहे.....

Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Insurance, Online Study, Health, Science, Biology, Economy, Career. 

संबंधित कीवर्ड :-
अल्कोहल सेंसर कैसे काम करते हैं? अल्कोहल सेंसर का कार्य, अल्कोहल सेंसर का उपयोग कैसे करे, Breathalyzer कैसे काम करता है? कार में अल्कोहल सेंसर लगाने के क्या लाभ हैं? Breathalyzer क्यों महत्वपूर्ण है? सड़क सुरक्षा सेंसर का कार्य,

यह आर्टीकल जरूर पढ़े....

करियर कैसे बनाये ☟  
  यह भी पढ़े ☟
ApnaSandesh.Com से संबंधित अपडेट के लिए, हमसे ☛  फेसबुक पेज और ☛  ट्विटर पर जुड़ें तथा Follow करें और नवीनतम लेखों से जानकारी प्राप्त करें.

Tuesday, 10 September 2019

FASTag - Electronic toll collection - FASTag का उपयोग कैसे करे

दोस्तों जैसा की हमने पिछले लेख में यातायात के नए नियम और कानून के बारे में बताया है. और उसी लेख में हमने FASTag के बारे में उल्लेख किया है. लेकिन आज के इस लेख में FASTag - Electronic toll collection क्या है? FASTag क्या है, FASTag का उपयोग कैसे करे, FASTag कैसे कार्य करता है, वाहनों में FASTag कैसे लगाए, FASTag device क्या है, FASTag कैसे काम करता है, FASTag के बारे में जानकारी, in Hindi.

FASTag - Electronic toll collection - FASTag का उपयोग कैसे करे

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण - National highway authority of India (NHAI) ने इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह के लिए FASteg की उपलब्धता को सुविधाजनक बनाने के लिए मोबाइल ऐप - My FASTag और FAStag Partners लॉन्च किए हैं.


FASTag - Electronic toll collection - FASTag का उपयोग कैसे करे :

FASTag क्या है?

FASTag एक उपकरण है जो प्रीपेड या बचत खाते से सीधे टोल भुगतान करने के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक का उपयोग करता है.

यह आपके वाहन की विंडस्क्रीन से चिपका हुआ होता है और आपको नकद लेनदेन को रोके बिना टोल प्लाजा से ड्राइव करने में सक्षम बनाता है.

FASTag को टैग जारी करने वाले से खरीदा जा सकता है, और यदि यह प्रीपेड खाते से जुड़ा हुआ है, तो आपको अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप टैग को रिचार्ज - टॉप अप करना होगा,

FASTag की सुरुआत -

☛ यह प्रणाली शुरू में अहमदाबाद और मुंबई के बीच स्वर्णिम चतुर्भुज के खिंचाव पर 2014 में एक पायलट परियोजना के रूप में स्थापित की गई थी.


☛ यह प्रणाली 4 नवंबर 2014 को दिल्ली - चतुर्भुज के मुंबई शाखा पर लागू की गई थी.

☛ जुलाई 2015 में, चेन्नई - स्वर्णिम चतुर्भुज के बेंगलुरु खिंचाव पर टोल प्लाज़ा ने FASTag भुगतान स्वीकार करना शुरू कर दिया था.

☛ अप्रैल 2016 तक, फैस्टैग को पूरे भारत में राष्ट्रीय राजमार्गों पर 247 टोल प्लाजा पर लागु कर दिया गया था, जो उस समय देश के सभी टोल प्लाजा का 70% था.

☛ 23 नवंबर 2016 तक, देश भर के राष्ट्रीय राजमार्गों पर 366 में से 347 शुल्क प्लाज़ा फैस्टैग भुगतान स्वीकार करते थे.

☛ 1 अक्टूबर 2017 को, NHAI ने अपने दायरे में सभी 371 टोल प्लाजाओं में FASTag लेन शुरू करने की योजना बनाई.

☛ 8 नवंबर 2017 को, सरकार द्वारा दिसंबर 2017 के बाद भारत में बेचे जाने वाले सभी नए वाहनों पर FASTag को अनिवार्य बनाकर इसका पालन किया गया .

इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (ETC) क्या है?

ETC मानव हस्तक्षेप के बिना राजमार्ग टोलों का इलेक्ट्रॉनिक भुगतान है. ETC सिस्टम वाहन और टोल संग्रह एजेंसियों के बीच इलेक्ट्रॉनिक वित्तीय लेनदेन करने के लिए वाहन-से-सड़क संचार तकनीक का उपयोग करते हैं.

FASTag - Electronic toll collection - FASTag का उपयोग कैसे करे

FASTag का उपयोग करने के क्या फायदे हैं?

कैशलेस भुगतान -
फास्टैग उपयोगकर्ताओं को टोल लेनदेन के लिए नकद लेने की आवश्यकता नहीं है और सटीक परिवर्तन एकत्र करने के लिए चिंता करने की आवश्यकता नहीं है.


फास्टर ट्रांज़िट -
FASteg के माध्यम से डेबिट की सटीक मात्रा टोल प्लाजा के माध्यम से तेजी से पारगमन में सक्षम बनाता है और समय बचाता है.

ऑनलाइन रिचार्ज -
FASTag का रिचार्ज क्रेडिट कार्ड - डेबिट कार्ड - NEFT - RTGS या नेट बैंकिंग के माध्यम से ऑनलाइन किया जा सकता है.

एसएमएस अलर्ट -
टोल लेनदेन, कम शेष राशि, आदि के लिए पंजीकृत मोबाइल नंबरों पर तत्काल एसएमएस आ जाता है.

FASTag कैसे खरीदा जा सकता है?

FASTag की ऑनलाइन बिक्री - FASTag जारीकर्ता बैंक की वेबसाइट - NHAI वेबसाइट - IHMCL वेबसाइट से ऑनलाइन खरीदी जा सकती है और कूरियर के माध्यम से ग्राहक के घर तक पहुंचाई जा सकती है.

Click On ☛ FASTag की ऑनलाइन बिक्री (Amazon Sale) 

मोबाइल ऐप - My FASTag एक उपभोक्ता ऐप है जिसे एंड्रॉइड और आईओएस सिस्टम दोनों के लिए ऐप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है.

ग्राहक इस ऐप पर FASTag  खरीद या रिचार्ज कर सकता है. ऐप आपको लेनदेन को ट्रैक करने और ऑनलाइन शिकायत निवारण प्रदान करने में मदद करता है. Android के लिए ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. 


FASTag - Electronic toll collection - FASTag का उपयोग कैसे करे

अपना टैग खाता बनाने के लिए, आप टोल प्लाजा या बैंक के बिक्री कार्यालयों (ICICI Bank, Axis Bank, HDFC Bank and State Bank of India) में कहीं भी पॉइंट ऑफ़ सेल (पीओएस) पर जा सकते हैं.

वैकल्पिक रूप से, आप निकटतम पीओएस स्थान की पहचान करने के लिए जारीकर्ता बैंक ग्राहक सेवा नंबर से संपर्क कर सकते हैं - आपको पीओएस - बिक्री कार्यालय में अपने KYC दस्तावेजों की एक प्रति के साथ-साथ मूल की आवश्यकता होगी, FASTag खरीदने के लिए आपको अपने वाहन को POS - Sales कार्यालय स्थान पर ले जाना होगा.

FASTag की खरीद के लिए आवश्यक दस्तावेज - क्योंकि एफएएस टैग खाते से जुड़ा हुआ होता है, इसलिए जारीकर्ता बैंक की KYC नीति के अनुसार KYC दस्तावेजों की आवश्यकता होती है. केवाईसी दस्तावेजों के अलावा, आपको FASTag के लिए एक आवेदन के साथ एक वाहन पंजीकरण प्रमाणपत्र (RC) जमा करना होता है.

कौन से पेपर महत्वपूर्ण -

❁ वाहन पंजीकरण प्रमाण पत्र,

❁ वाहन मालिक का KYC दस्तावेज, (इसमें आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ दिया जा सकता है)

❁ कार मालिक की पासपोर्ट साइज फोटो,

FASTag की असीमित वैधता -

✤ FASTag का उपयोग तब तक किया जा सकता है जब तक कि टैग को पाठकों द्वारा पढ़ा और छेड़छाड़ न किया जाए,

✤ यदि पढ़ने की गुणवत्ता कम हो गई है या खराब हो गई है, तो कृपया नए टैग के लिए अपने जारीकर्ता बैंक से कांटेक्ट करना पड़ सकता है.

FASTag का शुल्क क्या है?

जारीकर्ता बैंकों द्वारा FASTag जारी किया जाता है और बैंकों के पास अधिकतम प्रत्येक टैग के लिए रु. 1 /-, हालांकि, वास्तविक टैग जारी करने का शुल्क जारीकर्ता बैंक द्वारा परिभाषित किया गया है और बैंक से बैंक में भिन्न हो सकता है.


इन बातों का ध्यान रखें -

✣ जब भी आप उस अवसर पर फास्टैग के लिए आवेदन जमा करते हैं, तो सभी सत्यापन के लिए मूल दस्तावेज साथ रखे,

✣ FASTag के माध्यम से टोल का भुगतान करने पर, कुछ % कैशबैक भी मिल सकता है.

जारीकर्ता बैंकों के लिए कस्टमर केयर हेल्पलाइन -

✦ आईसीआईसीआई (ICICI) बैंक (ग्राहक सेवा 1800 210 0104)

✦ एक्सिस (Axis) बैंक (ग्राहक सेवा 1800 103 5577)

✦ एचडीएफसी (HDFC) बैंक (ग्राहक सेवा 1800 266 9970)

✦ एसबीआई (SBI) बैंक (ग्राहक सेवा 1800 110 018)



दोस्तों, उम्मीद है की आपको FASTag - Electronic toll collection - FASTag का उपयोग कैसे करे यह आर्टिकल पसंद आया होगा. यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ साझा करें और हमारे साथ जुड़े रहें और इसी तरह के दिलचस्प लेखों से अवगत होकर अपने ज्ञान को बढ़ाएं.

धन्यवाद...

हसते रहे - मुस्कुराते रहे.....

Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Insurance, Online Study, Health, Science, Biology, Economy, Career. 

संबंधित कीवर्ड :-
FASTag - Electronic toll collection क्या है? FASTag क्या है, FASTag का उपयोग कैसे करे, FASTag कैसे कार्य करता है, वाहनों में FASTag कैसे लगाए, FASTag device क्या है, FASTag कैसे काम करता है, FASTag के बारे में जानकारी,

यह आर्टीकल जरूर पढ़े....

करियर कैसे बनाये ☟  
  यह भी पढ़े ☟
ApnaSandesh.Com से संबंधित अपडेट के लिए, हमसे ☛  फेसबुक पेज और ☛  ट्विटर पर जुड़ें तथा Follow करें और नवीनतम लेखों से जानकारी प्राप्त करें.

हमें ट्विटर पर फॉलो करे

Popular Posts

हमें Email पर Follow करे