Saturday, 26 May 2018

पानी को कैसे बचाए - How to save water

पानी को कैसे बचाए - How to save water       
दोस्तों आज हमारे पृथ्वी पर एक सबसे बड़ी समश्या है। जिस की वजह से मानव को कई सारे संघर्ष का सामना करना पड़ता है। क्युकी मानव जीवन को जीवन देले का काम ''जल'' ( पानी ) ही करता है। एक कहावत है ''जल ही जीवन है'', लेकिन भूतल पर जल ( पानी ) का लेवल कम होते जा रहा। हमारे पूर्वज के ज़माने में जल पुर्थ्वी के कुछ फिट नीचे मिलता था। अब पानी का लेवल इतना कम हो गया है की, पिने के लिए पानी नहीं मिल रहा। कही सारे शहरो में पानी के कमी से जीवन ख़त्म हो रहा है। यह सब रोकने के लिए हमें पानी का लेवल बढ़ाना है। अब सोचना यह है की पानी का लेवल कैसे बढ़ाया जाए ?



हर साल बारिस होती है, बारिस का पानी कई सारे तालाब, नदी, बांध आदि जगह पर रुक जाता है। लेकिन जब कई दिन तक बारिस नहीं होती, तब पानी के लिए कई सारे परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पानी के इस कमी पर बारिस के पानी का संधारण करना जरुरी है। जल संधारण के लिए कुछ नए तकनिकी अपनाना है। इस वजह से पानी का लेवल बढ़ा सकते है।

पुर्थ्वी पर सिर्फ 3 % ही पानी पिने के लिए उपयोग में ला सकते है, बाकि पानी खारा होता है।

भूजल संधारण पद्धत :

          ★  बारिस के पानी को भंडारण करना,
          ★  संधारण खड्डा,
          ★  संधारण नलिका,
          ★  संधारण नहर,
          ★  गैबियन बांध,
          ★  पाझर बांध आदि।

यह आर्टीकल जरूर पढ़े.........
AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  
   NATURE (  प्रकुर्ती  )

बारिस के पानी का संग्रहण :

       Rain Water Harvesting याने पानी को जमा करके रखना और सही समय पर उसे इस्तेमाल करने के लिए उपयोग में लाना।

जल संधारण के लाभ :


➤  सही समय पर पानी का उपयोग कर सकते है।
➤  पुर और पूमि का ऊपरी भाग बाड़ से बचेगा।
➤  बांधकाम और सेतकाम में पानीका उपयोग। आदि,

बारिस के पानी को कैसे बचायें ? -  How to save water ?

           सभी बारिस के पानी का संधारण मुख्य तीन रूप से किया है - पाणलोट क्षेत्र, वाहक, और बचत।

➪  पाणलोट क्षेत्र :-      बारिस के पानी को बचने की छत ,

➪  वाहक :-                 छत से पाणलोट जगह तक पानी को पाइप के माध्यम से वहन करना ,

➪  छत सफाई :-         फस्ट फ्लस की माध्यम से पानी को सुद्ध कीया जाता है।

➪  विवरण :-               छोटा पंप या मोटर के माध्यम से बारिस के पानी का उपयोग अन्य कामो में लाना।



यह आर्टीकल जरूर पढ़े.......
AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  
 ELECTRICAL  TECHNOLOGY  

पानी बचाने के कुछ नई तकनीकियां : 

         बारिश का पानी बचना है और आने वाले समय तक उपयोग में लाना है तो उसे चुना और अन्य पदार्थ के उपयोग से  करे।  याने आने वाले समय तक उसे उपयोग में ला सकते है। यह एक नैसर्गिक पद्धत है जो पानी को सुद्ध रखती है और इसका उपयोग पिने के लिए कर सकते है। पानी का संधारण के लिए टैंक का उपयोग करना चाहिए।  बारिस के पानी को कृतिम टैंक में बचके उसे उपयोग में ला सकते है।

टैंक की जगह :

•  टैंक का उपयोग पानी संधारण के लिए कर शकते है।

•  टैंक का आधा भाग जमीन और आधा भाग ऊपरी हिसे में रखे।

•  टैंक की जगह अगर टनक जमीन है तो 3 - 5 फिट और नरम है तो 10 फिट होना चाहिए।


टैंक का आकार :

         टैंक का आकार जमीन के प्रकार पर निश्चित है।  टैंक का आकार संभवतः चौकोन और गोलाकार है। कठोर जमीन पर चौकोन टैंक अछि होती है और गोलाकार टैंक रेगिस्तान में अच्छा होता है। ऐसे टैंक बनाने के लिए नई तकनीकी गांव के लोगो में है।

        कुहा पानी बचाने का स्त्रोत नहीं , कुहे का निचला भाग पानी के स्त्रोत से जुड़ा है। बारिस के पानी से कुहे का लेवल कम ज्यादा होते रहता है। बारिस के बाद जमीन के अंदर बचा हुआ पानी कुहे में आता है। इसलिए पानी का संधारण करना  जरुरी है। पानी बचाने के लिए बताए गए तकनिकी का उपयोग करना जरुरी है।

बारिस के पानी का संधारण सबसे अधिक होता है, जब  ..... 

➢  भू-जल का प्रमाण कम हो

➢  भू-जल दूषित हो

➢  भू-भाग पर्वत और पत्थरो से भरा हो

➢  भूकंप और बाढ़ हो

➢  आबादी विरल हो

➢  बिजली और पानी की कीमत अधिक हो

➢  पिने के पानी में खरा पानी जाने के संभावना, आदि।


यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े........
   शोध और विकास
       टेक्नोलॉजी

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts