Tuesday, 22 May 2018

ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास - Automobile Vehicle's New Technique and Development

ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास - Automobile Vehicle's New Technique and Development
            दोस्तों आप सभी ने जाना है की की नई नवीनताएँ और विकास को दिन प्रति दिन घटित होते हुए बढ़ रही है , वाहनों के डिझाइन में कई सुधारना हो रही है। आप सोच सकते हो की यह नवीनता कैसे घटित हो रही है और क्यू हो रही है। यह सब जानकारी आपको इस लेक के द्वारा मिलने वाली है। तो जरूर पढ़े। 



            दोस्तों आप सभी ने अपने गावो या शहरो की सडको पर कुछ नए पुराने वाहन देखे होंगे। किन्तु इनकी संख्या दिन प्रतिदिन कम होती जा रही है।  और नए और स्टाइलिश वाहन दिखाई देते है , यह तक बस और ट्रक भी आकर्षित दिखाई देते है। बल्कि साइकल और मोटर साइकल की भी डिझाइन नई दिखने लगी है। 

जब कभी नवीनताएँ होती है तो वाहनों में सर्व प्रथम उसके सेफ्टी के बारे में और कीमत में सबसे अधिक लाभ होता है। जब कभी नई तकनीक बाजार में आती है तो पहले उसे निरिक्षण किया जाता है। उन्नत प्रौधोगिकियों को बाजर में लाने के लिए कई साल लग जाते है ( 5 -10 ) यही कारन है जो कंपनियों को पहले से ही योजना बनानी पढ़ती है।  इसलिए ऑटोमोबाइल बाजार में नए सोच वाले लोगो की जरुरत होती है। नवीनीकरण एक नए विचार के साथ आरम्भ होता है जैसे, कम्प्यूटर सिमुलेशन, उत्पादन विकाश, प्रयोगशाला परिक्षण, उपभोक्ता परीक्षण, आदि। 

वाहनों में किसी भी नई तकनिकी के बिक्री से पहले उसे सभी इंजीनियर और वैज्ञानिक के द्वारा संचालित किया जाता है। नवीनता के लिए लिड समय की जरुरत होती है, नया मॉडल बाजार में आने के लिए  5 - 7 साल की आवश्यकता होती है, क्योकि उत्तम सुविधा और नई तकनिकी को अधिक समय लगता है।



कुछ नए तकनीक वाले वाहन :- 

बिजली की कार -   
ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास - Automobile Vehicle's New Technique and Development

        यह एक ऐसी कार है जो इलेक्ट्रिक करंट पे चलती है। जो बैटरी और अन्य उपकरणों से दिया जाता है। बिजवी वाली कार प्रदुषण रहित होती है, यह कार शहरो में होने वाले प्रदुषण को कम करने में सहायक होती है। 

हायब्रिड कार - 

       यह ऐसा वाहन है जिस में दो या अधिक ऊर्जा स्त्रोत होते है। इस वाहन को पेट्रोल और इलेक्ट्रिक  भी चलाया जा सकता है। जबकि बिजली वाली कारो का अविष्कार कुछ वर्ष पहले किया है। अमीरिका में  ऐसे कुछ वाहन बनाए गए थे।  

ऐटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम - 

       यह 1960 के दशक में कुछ वाहनों में स्तापित की गई, यह एक प्रणाली वाहन रोकने पर नियंत्रण बनाए रखने में सहायता करती है। और वाहन स्तिरता को भी नियंत्रण करती है। प्रथमता मर्सिडीज बेंज में उपयोग किया गया है।

एअर बैग सिस्टम - 

ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास - Automobile Vehicle's New Technique and Development
     
            क्रिसलर नामक व्यक्ति ने एअर बैग प्रणाली को 1988 में प्रथमता वाहनों में उपयोग में लाया। यह प्रणाली वाहको के सेफ्टी के लिए महत्वपूर्ण है, अब यह सिस्टम सभी वाहनों में कार्यरत है। 

चावी रहित प्रणाली - 

      सन 1993 में कार्वेट जनरल मोटर्स ने पहली चावी रहित कार बनाया। इसके माध्यम से पार्किंग में खोई वाली वाहन को हॉर्न या रोशनी के माध्यम से पहचाना जा सके। अब ज्यादातर सभी वाहनों में यह प्रणाली का उपयोग किया जाता है, जिस से बिना चाबी से गाड़ी को सुरु किया जाता है। 

गर्म और ठंडी सीटे - 

        वाहनों में गर्म सीटे काफी समय से प्रचलित है परन्तु 90 के दशक में ठंडी सीटे वाली गाड़ी मार्किट में आने लगी। जब विद्युत कॉइल से सीटे गरम होती तो वायु के दाब से सीटे ठंडी होती है। पहले शरीर शीत से सुकड़ जाता था, या हमारी पीठ में पसीना आता था और कमीज शरीर पे चिपक जाती थी। 

नेविगेशन सिस्टम - 

ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास - Automobile Vehicle's New Technique and Development
     
            यह एक ऐसी प्रणाली है जो हौंडा कंपनी ने प्रथमता 1990 में हौंडा के मॉडल में लगाया है। यह सिस्टम से सभी नक्से का जिक्र किया है। जो हम पहले वाहन रोक के रास्ता पूछने के लिए गाड़ी रोक देते थे। वह आज हम वाहनों में नेविगेशन सिस्टिम से आसानी हुई है।  

         यह तकनिकी निरंतर है जो आगे भी होती रहेंगी। सभी बड़े ऑटो निर्माता के अनुसाधन और विकास केन्द्रोकि स्थापना हुई है। विकास खर्च रिपोर्ट ( Development expenses report ) के अनुसार 2005 में मोटर वाहन विकास में 68 बिलियन यूरो, तथा 2015 में बढ़ कर 800 बिलियन हो जा चुकी है।  


यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े........
   शोध और विकास
       टेक्नोलॉजी

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

हमें ट्विटर पर फॉलो करे

Popular Posts

नए लेख पाने के लिए अपना ईमेल यहाँ Free Submit करें