Monday, 28 May 2018

Rain Gage बनाने के आसान तरीके - Easy ways to make Rain Gage

Rain Gage बनाने के आसान तरीके - Easy ways to make Rain Gage, rain gage कैसे बनाये, rain gage बनाने के tips, rain Gage के बारे में जानकारी, rain Gage in Hindi, बारिश में rain Gage बनाये 

Rain Gage बनाने के आसान तरीके - Easy ways to make Rain Gage

Rain Gage बनाने के आसान तरीके - Easy ways to make Rain Gage :

जैसे की आप जानते है बारिस एक प्रकुर्ति का अमूल्य खजाना है। प्रकुर्ति में कई सारे बदलाव आते रहते है, तापमान,वायुदाब,तूफान,बारिस, आदि। प्रकुर्ति के बदलाव में लघु अवधी स्थिति याने वायु का बहाव है। प्रकुर्ति में तयार होने वाले बदलाव में  बारिस के बूंदो का निर्माण आकाश में कम टेम्परेचर की वजह से छोटे बूंदो का रूपांतर बड़े बूंदो में होता है। यह जल बिंदु वायु से भी बलवान होते है। इसी वजह से पृथ्वी पर बारिस होती है। इसीको बारिस या वर्षा कहते है।

जलबिंदु बड़े , भारी और बर्फ बनके पृथ्वी पर बारिस के रूप में आते है। कभी कभी बहुत अधिक मात्रा में हिम की वर्षा होती है उसे हिम वर्षा ( गारा / गारपीट ) कहते है। कही बार प्रकुर्ति का तापमान कम होने से हिम वर्षा होती है।


यह आर्टीकल जरूर पढ़े.........
AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  
   NATURE (  प्रकुर्ती  )


Rain Gage क्या है ?

पुरातन युग में कही देशो ने बारिस Measurement यूनिट का उपयोग किया है।  यह रेडिओ कार्बन डेटिंग से पता चला है। क्रिस्तोफर रेन नामक व्यक्ति ने सन 1662 में Rain Gage का अविष्कार किया था। Rain Gage को और अन्य नमो से जाना जाता है , Udometer , Pluviometer और Ombrometer आदि। निश्चित किए गए Measurement से Rain Gage संभवतः 203 लीटर ( 8 इंच ) होगा।  इससे वर्षा measure करने में आसान जायेगा। दिन में कब तक वर्षा होगी यह संभवतः किसी को पता नहीं होता, अगर पता भी हो तो बारिस कितनि हुई है यह पत्ता लगाना मुश्किल है।  कई बार बारिस कितनी हुई यह जानने के लिए बकेट का इस्तेमाल करते थे। परन्तु हम जान नहीं सकते की बारिस कितनी आई। कभी बारिस इतनी ज्यादा होती , की बकेट के बहार पानी आ जाता था तो कभी बकेट में पानी कम होता था। इसी लिए हम ज्यादातर Rain Gage का उपयोग करते है। Rain Gage बनाने के आसान तरीके - Easy ways to make Rain Gage



यह आर्टीकल जरूर पढ़े.......
AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  
 ELECTRICAL  TECHNOLOGY  
     
       बारिस ज्यादातर Rain Gage में मिली मीटर ( MM ) , सेन्टी मीटर ( CM ), और इंच ( Inch ) measure किया जाता है। जैसे,

 सबसे कम बारिस
  0. 25  मिमी / एक घंटे से कम  बारिस 
 कम बारिस
 0. 25  मिमी    To  1. 0   मिमी / एक घंटा बारिस 
 मीडिअम बारिस  
 1. 0    मिमी    To  4. 0  मिमी / एक घंटा बारिस 
 ज्यादा बारिस    
 4. 0    मिमी    To  16. 0  मिमी / एक घंटा बारिस 
 और ज्यादा बारिस
 16. 0  मिमी    To  50. 0  मिमी / एक घंटा बारिस 
 सबसे ज्यादा बारिस
 50. 0  मिमी / एक घंटे से ज्यादा बारिस 

Rain Gage बनाने के आसान तरीके - Easy ways to make Rain Gage :-


साहित्य / सामग्री : -
Rain Gage बनाने के आसान तरीके - Easy ways to make Rain Gage


1. प्लास्टिक बोटल
2. किप
3. मापन यंत्र
4. मार्कर पेन
5. बोटबुक
6. पेन
7. कैंची

Rain Gage बनाने के तरीके :-

➤ प्लास्टिक बोटल का ऊपरी हिंसा कैची से काटिए।

➤ मापन यंत्र से प्लास्टिक बोटल में 10 मिली लीटर पानी डाले।

➤ प्लास्टिक के बोटल को मार्कर से 10 मिली लीटर तक मार्क करे।

➤ और मापन यंत्र से बोटल में 10 मिली लीटर पानी डाले , और मार्क करे ( 20 , 30 , 40 आदि ) आवश्यक
जितना।

➤ इस प्रक्रिया से प्लास्टिक के बोतल में Scale का प्रमाण दिखेगा।

➤ बोतल से पानी बाहर निकाले।

➤ अब किप प्लास्टिक बोतल पर लगाए। इस तरह बनाए रेन गेज।


यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े........
   शोध और विकास
       टेक्नोलॉजी

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

हमें ट्विटर पर फॉलो करे

Popular Posts

नए लेख पाने के लिए अपना ईमेल यहाँ Free Submit करें