Saturday, 19 May 2018

वाहन सर्विसिंग और जॉब कार्ड - Vehicle Servicing and Job Card

वाहन सर्विसिंग का महत्व और जॉब कार्ड - Importance of Vehicle Servicing and Job Card
जैसा की आप जानते है हमारे शहर में वाहनों की संख्या लगातार बढ़ रही है।  हमारे शहरों में मोटर साइकल, स्कूटर, बस, कार, टेम्पो, ट्रक और ट्रॅक्टर आदि चलते है। प्रत्येक ने वाहन के साथ वाहन रखरखाव ( Maintenance  ) मैनुअल आता है।  वाहन के मालिक को यह मैनुअल पढ़ना और उपयोग करना चाहिए।  एस मैनुअल से वाहन चलाने के दौरान वाहन Maintenance  के सुझाव से वाहन चालको को सहायता मिलती है। लोग आम तौर पर कार या वाहन खरीदने के बाद उसके नियमित Maintenance की चिंता कम करते है। जबकि आप अपने वाहन की नियमित सर्विसिंग करते है , किन्तु आपके वाहन Maintenance  मैनुअल में दीए गए वाहन Maintenance सुझाओ की सहायता से आपके वाहन को अधिक समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है। वहन का Maintenance  और servicing उस समय कराय जाते है जब वाहन सामान्य तौर पर चलते हुए कुछ निश्चित की.मी. की दुरी तय कर लेता है और जब वाहन के प्रदर्शन में कमी दिखाई देती है।  
       
यह सुझाया गया है की वाहन के मालिको को अपने वाहन की नियमित और समय समय पर जांचे  करनी चाहिए।



Introduction to the vehicle service process :- 

वाहन के सर्विस सेंटर पर जाने के दौरान आपने अवस्य देखा होगा की अधिकृत ऑटोमोबाइल सर्विस सेंटर में एक वाहन की सर्विंसिंग के दौरान कुछ विशिस्ट प्रक्रियाए अपनाई जाती है।  इस दौरान अत्यंत महत्व पूर्ण भाग याने जॉब कार्ड और इसे भरने की प्रक्रिया है।

वर्क शॉप में सामान्य गतिविधिया :-

      जॉब कार्ड और इसे भरने की प्रक्रिया
    •  वाहनों की धुलाई और धुलाई की प्रक्रिया करना
      इंजिन में छोटी मोटी ट्यून अप
      तेल बदलना
      बैटरी इलेक्ट्रोलाईट स्तर की जांच करना

जॉब कार्ड और इसे भरने की प्रक्रिया :-  

जब एक वाहन मालिक सर्विस सेंटर में जाता है तो उससे सुपरवाईजिंग इंजिनीअर बात करते है।  ग्राहक वाहन की खराबियो के बारे में बताते है।  वाहन मालिक / ड्राईवर से जानकारी केने के बाद सर्विस स्टेशन या वर्क शॉप में सुपरवाईजिंग इंजिनीअर निरिक्षण करते है।  बताई गई खबरियो को एक मानक फॉर्म पर नोट किया जाता है।  जिसे जॉब कार्ड या वर्क ऑर्डर कहते है।

वाहन सर्विसिंग का महत्व और जॉब कार्ड - Importance of Vehicle Servicing and Job Card

जॉब कार्ड का विवरण :- 

      जॉब कार्ड संख्या,
    ➤  सर्विस सेंटर का नाम, पता और फोन नंबर,
    ➤  ग्राहक का नाम , पता और फोन नंबर,
    ➤  वाहन के विवरण  जैसे - माँडल, रजीस्ट्रेशन नंबर , इंजिन नंबर ,खरीदने की तिथि , की.मी. इत्यादि........
    ➤  ट्रायल से पहले सूचि की जांच,
    ➤  ग्राहक द्वारा देखना,
    ➤  किए जाने वाले कार्य ,
    ➤  ग्राहक और बिमा कंपनी के लिए रूपए में अनुमानित लागत।
    ➤  आवश्यक मजदुर ,
    ➤  मैकेनिक का नाम ,
    ➤  सुपरवाईजर का नाम और हस्ताक्षर,
    ➤  मरम्मत के लिए ग्राहक द्वारा अधिकृत करना और उसके हस्ताक्षर,
    ➤  पावती।

रखरखाव की जांच - Maintenance check : -  

जब आप लिम्बी दुरी पर यात्रा के लिए घर से निकलते है तो जरुरी है की आप कुछ नियमित वाहन की जांच करे। आपको इसके कुछ स्पष्टीकरण पाने के लिए वाहन Maintenance मैन्युअल पढ़ना चाहिए। इसके बेहतर Maintenance के लिए कुछ महत्वपूर्ण जांचे की जाती है।

यह वाहन के चालक या मालिक की जिम्मेदारी है की वह सड़क पर किसी भी प्रकार की खराबी से बचने के लिए इजिन सुरु करने से पहले प्रतिदिन निम्नलिखित निरिक्षण करे।
सभी टायरो में देखकर या पत्थर से टायर की सतह को छुकर और आवाज सुनकर टायर के दबाव की जांच करे।

   ➢  रेडिएटर में कुलंट का स्तर जांचे।
   ➢  पंखे के बेल्ट में ढीलेपन की जांच करे।
   ➢  इजिन ऑइल के स्तर की जांच करे।
   ➢  विंड स्क्रीन , रिअर व्यू मिरर और रिअर विंडो ग्लास में सफाई की जांच करे।
   ➢  तेल के स्तर की टॉपिंग
   ➢  बेल्ट में उचित तनाव
   ➢  बैटरी की सफाई और इलेक्ट्रोलाईट का स्तर ( केवल डिस्टिल water का ही उपयोग करे )
   ➢  ब्रेक तपासे
   ➢  यदि कुलंट की आवश्यकता है तो कुलंट टॉप अप करे।
   ➢  कुलंट सिस्टिम होझ पाइप की सर्विसिंग की जांच करे।
   ➢  AC जांच करे।

वाहन का Maintenance आम तौर पर वाहन के सर्विस सेंटर में की जाती है। आपको नजदीकी वाहन सर्विस सेंटर में अवस्य जाना चाहिए और देखना चाहिए की वाहन का उचित Maintenance कैसे किया जाता है।

सभी वाहनों में तेल के स्तर की जांच / टॉप अप : -  

वाहन सर्विसिंग का महत्व और जॉब कार्ड - Importance of Vehicle Servicing and Job Card

मेजरिंग स्टिक की सहायता से सर्विस मैकेनिक इंजिन ऑइल , ब्रेक ऑइल और पानी की जांच करता है। नियमित जांच के दौरान तेल, पानी, कुलेंट को डाला ( Top Up ) किया जाता है या बदल दिया जाता है।

बैल्ट की जांच - Belt probe :- 

बैल्ट की जांच करना बहुत महत्वपूर्ण है।  यदि यह टुटा या ढीला है तो इसे तुरंत बदलना चाहिए।

बैटरी - Battery :- 

वाहन सर्विसिंग का महत्व और जॉब कार्ड - Importance of Vehicle Servicing and Job Card

एक वाहन में बैटरी बहुत महत्वपूर्ण घटक है।  इसे नियमित रूप से जांचना चाहिए।  बैटरी कैप खोलकर अन्दर के इलेक्ट्रोलाईट ( डिस्टिल पानी ) की जांच करनी चाहिए।  यदि इसका स्तर कम है तो इसे डिस्टिल पानी से टॉप अप करना चाहिए।  इन दिनों बैटरी Maintenance फ्री प्रकार की होती है और इसकी जांच की जरुरत नही होती।  किन्तु कुछ बैटरी जो Maintenance फ्री प्रकार की होती है, किन्तु इनसे कैप हटाने की सुविधा होती है।  अत : इनकी जांच सामान्य तरीके से की जानी चाहिए। 

ब्रेक सिस्टिम - Brake system :-   

सर्विस मैकेनिक पैडल को दबाकर भी ब्रेक की जांच करता है।  यदि उसे लगता है की सर्विसिंग की जरुरत है तो वह ग्राहक को सुचता है।

कुलिंग सिस्टिम - Cooling System :- 

टेक्नीशियन कुलेंट को टॉप अप करते हुए कुलिंग सिस्टिम की जांच करता है।  कुलिंग सिस्टिम में सही कुलेंट रिफल करना चाहिए।  इसमे केवल पानी रिफंल नही करना चाहिए। 



वाहन की सर्विसिंग के दौरान पालन किए जाने वाले नियम :- 

आप सर्विस स्टेशन जाते है और आप देखते है की सर्विस टेक्नीशियन अपने कार्य सही तरीके से करते है।  एक गैराज या सर्विस स्टेशन में वाहन की सर्विसिंग के दौरान टेक्नीशियन को होने वाली दुर्धटना की रोखथाम के लिए कुछ सावधानी और सुरक्षा के नियमो का पालन करना चाहिए।

  ➤  हमेशा विशेष कार्य के लिए एक सही औजार चुने।  गलत औजार लेने से उस पुर्जे पर कार्य करने से टूट
            सकता है और आपको भी चोट लग शक्ति है।
  ➤  अपने औजारों और उपकरणों को अपने अनुसार रखे।
  ➤  अपने हाथो तथा औजारों से अतिरिक्त तेल और ग्रीस पोछकर हटाए ताकि आपकी पकड़ औजारों या
           मशीन पर सही रहे।
  ➤  शांति से कार्य करे और अपने कार्य पर पूरा ध्यान केन्द्रित करे।
  ➤  धारदार वस्तुए अपनी जेब में ना रखे , जैसे स्क्रू ड्राईवर।  इससे आपको स्वय चोट लग सकती है।
    सुनिश्चित करे की टेक्नीशियन के कपडे कार्य के अनुसार उचित है या नही , और हमेशा सुरक्षा जुते
           पहनने चाहिए।
  ➤  यदि फर्स पर तेल , ग्रीस या अन्य कोई तरल गिर जाता है तो इसे साफ़ करे ताकि इस पर कोई फिसल
           ना सके।
  ➤  जैक का उपयोग करते समय ध्यान रखे, और जैक सही जगह एक्सल के बिच लगाये ताकि जैक फिसल
           ना सके।
  ➤  एक बंद गैरेज में इंजिन कभी नही चलाए , जहा हवा बाहर जाने का उचित मार्ग नही है।  इससे निकलने
           वाली गैसों में कार्बन मोनोक्साइड होती है।  कार्बन मोनोक्साइड एक रंग हिन , गंध हिन , स्वाद हिन,
           जहरीला गैस है जो मौत का कारन बन सकता है।

इस लिए ध्यान रखिये की वाहनों की Maintenance और सर्विसिंग करना जरुरी है।  ताकि वाहन सुरक्षित रहे और इससे तयार होने वाले प्रदुषण को कुछ प्रमाण में रोका जा सके। 

ऑटोमोबाइल वाहन का जीवन बढ़ने के सुझाव :-   

   ➢  वाहन को हर दिन सावधानी से चलाए।
   ➢  वाहन की दुर्घटना या उसमे खराबी आने पर धीरज रखे , वाहन के हेल्पलाईन नंबर पर कॉल करे या
            पुलिस या अस्पताल को सूचना दे।
   ➢  प्रतिष्ठित सर्विस स्टेशन से पेट्रोल या डिझेल ख़रीदे।
   ➢  कार की चाबी आसानी से दिखानी चाहिए।
   ➢  लम्बे समय तक कार को पार्किंग करना है तो उसे छाव में रखे।
   ➢  वाहनों के अन्दर की सफाई करे।
   ➢  दरवाजे और खिड़कियो की सील संभालकर साफ़ करे।
   ➢  गन्दी सीटो पर अपहोलस्टरी क्लीनर उपयोग करे।
   ➢  बेबी सिट के निचे तौलिया रखे।
   ➢  सूर्य की रोशनी से बचने के कार को पेंट करे।
   ➢  टायर का उचित दबाव चेक करे।
   ➢  इंजिन ऑइल चेक करे।
   ➢  ड्राईवर बेल्ट के तनाव की जाच करे।
   ➢  इंजिन की सफाई करे।
   ➢  अपनी कर की बैटरी का Maintenance करे।


    
देखभाल और Maintenance के सुझावों से आपकी कार अच्छी स्थिति में चल सकती है।  इन सुझावों से एक वाहन को बेहतरीन Maintenance में सहायता मिलेगी।
यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े........
   शोध और विकास
       टेक्नोलॉजी

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts