Sunday, 1 July 2018

एलपिजी क्या है - What is LPG

बढ़ते इंधन की कीमत व इंधन की कमी और वातावरण में निर्माण होने वाले प्रदुषण, इन सब कारणों पर पर्याय  इसलिए पेट्रोल इंजिन में LPG ( Liquefied Petroleum Gas ) का उपयोग अधिक मात्रा में किया जाता है। किस प्रकार एल. पि. जी. किट सिस्टम पेट्रोल कार में फिटिंग की जाता है, और इंजिन रिलेटेड एल. पि. जी. घटक कैसे फिटिंग किए जाते है व इलेक्ट्रिकल वायरिंग सिस्टम का कार्य। यह सब जानकारी आप इस आर्टिकल के माध्यम से गनेंगे तो चलिए दोस्तों अब इसके बारे में सविस्तर जानते है।
एलपिजी क्या है - What is LPG

 What is L. P. G. - एल. पि. जी. क्या है

कुछ अनावश्यक कम वेट वाले पेट्रोलीअम से बने हुए हायड्रोकार्बन मिश्रण को एल. पि. जी. के नाम से जानते है। एल. पि. जी. यह Propane and Butane इस घटक से तयार किए जाते है।

Specification :-

➠  Chemical boat -                A mixture of butane and propane as a fuel

➠  Hydrocarbons -                C3H8 and C4H10

➠  UN No. -                              1075

➠  Component material -   ISO butane - 14. 7%, but butane - 55. 7%, propane - 27. 5%
Other component CS ( इथेन , इथोलिन, पेन्टेंन, और पेन्टेंनी )

➠  Specific Gravity -             0.525 to 0.58 - 15⁰ सें. ग्र.

➠  Liquid Density -                0.562 - 15⁰ सें. ग्र.

➠  Steam pressure -              16.87 की.ग्र./सें.मी² - 65⁰ सें. ग्र.

➠  Boiling Point -                   साधारण 0⁰ सें. ग्र. के आसपास का तापमान या Sub- Zero

➠  Calorific Value -                1 की. ग्र  एल. पि. जी.= 11400 किलो कैलरी

एल. पि. जी. द्रवरूप गैस है इसके अलावा रंगहीन और वासविरहित है। लेकिन इसका अस्तित्व जानने के लिए Methyl Mercaptans इस घटक को मिलाया जाता है। एल. पि. जी. के भाप की घनता वायु के घनता से 1.7 इतनी है। इसलिए एल. पि. जी. कंटेनर से अलग किए तो तुरंत वायु बन जाता है। एल. पि. जी. के ज्वलन होने से पहले उसके दुर्गंध से लीकेज का संकेत मिल जाता है। एल. पि. जी. ज्वलन के लिए उष्ण घटक की आवश्यकता है। यह इंधन पानी के सम्पर्क में नही जलता, अगर किसी कारण सिलेंडर के अंदर पानी जमा हो तो गैस ऊपर आ जाती है। अन्य इंधन के तुलना में यह इंधन विशिष्ठ उष्ण और स्थिर है। इसलिए यह एक आदर्श इंधन है।


पेट्रोल इंजिन को अगर एल. पि. जी. इंजिन में रूपांतर करना है तो इसमें कोई बदलाव नही होता। लेकिन सिर्फ इसमें एल. पि. जी. किट का उपयोग करना होता है।

एल. पि. जी. किट के आवश्यक घटक - 

➠  L. P. G. Tank

➠  Multi Function Valve

➠  High Pressure Tubing

➠  Gas - Gasoline Change Over Switch

➠  L. P. G. Solenoid valve

➠  Petrol Solenoid Valve

➠  Pressure reducer - Vaporizer

➠  Low pressure tubing

➠  Mixer


यह आर्टीकल जरूर पढ़े.......
AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  
 ELECTRICAL  TECHNOLOGY  

How the LPG system works - एल. पी. जी. प्रणाली कैसे काम करती है

एल. पि. जी.टैंक से द्रव रूप इंधन हाय pressure ट्यूब से रिड्युसर व्हेपोराइझर के माध्यम से सप्लाई होता है। एल. पि. जी. के प्रवाह पर सोलेनोइड व्हाल्व से नियंत्रण किया जाता है। जब इंजिन बंद हो या पेट्रोल चालू हो तो तब व्हाल्व बंद रहता है। Pressure reducer - Vaporizer में होने वाले एल. पि. जी. का pressure कम होकर वह वायु में रूपांतर होता है। एल. पि. जी. को वायु के रूप में लाने के लिए ऊर्जा इंजिन कुलिंग सिस्टम गरम पानी से ली जाती है। Pressure reducer - Vaporizer में दबाव कम या वायु में रूपांतरित होने वाले एल. पि. जी. कनेक्टिंग ट्यूब के माध्यम से कार्ब्युरेटर के फ्लोट चम्बर तक आकर मिक्स होता है व सक्शन होने वाले वायु के संपर्क में आकर आवश्यक मात्रा में उपयोग होता है।

∎ एल. पि. जी. टैंक - L. P. G. Tank

यह टैंक अच्छे गुणवत्ता से बनाया होता है इस टैंक पर बनाने वाली कंपनी का लोगो छापील होता है। टैंक पर सिरिअल नंबर, टैंक की कैपेसिटी, आदि की जानकारी होती है। अलग अलग वाहनों के डिजाईन के हिसाब से टैंक बनाए जाते है। हर एक टैंक में 45 बार इंटर्नल हायड्रोलिक प्रेशर टेस्ट किया होता है। गाड़ी में अलग से टैंक फिटिंग की जगह दी जाती है। एल. पि. जी. टैंक पर मल्टीव्हाल्व फिटिंग किया होता है। इस व्हाल्व का उपयोग टैंक में गैस भरना, गैस को बाहर निकालना, गैस को लीकेज से बचाना आदि के लिए होता है।

∎ हाय प्रेशर ट्यूब - High Pressure Tube

टैंक से सोलेनोइड व्हाल्व और सोलेनोइड व्हाल्व से Pressure रिड्युसर इस घटक तक गैस को पहुचाने के लिए अनल्ड कॉपर हाय प्रेशर ट्यूब इस्तेमाल होता है। इस ट्यूब का वर्किंग प्रेशर 45 बार इतना है जो एक विशिष्ठ रूप से जोड़ा होता है।


∎ गैस - पेट्रोल चेंज ओव्हर स्विच - Gas - Petrol Change Over Switch

गैस सप्लाई सिस्टम या पेट्रोल फ्यूल सप्लाई सिस्टम चालू करने के लिए पुश बटन टाइप इलेक्ट्रिक स्विच होती है। यह स्विच वाहन डैश बोर्ड के निचले हिस्से में होती है इसकी फिटिंग चालक के हातो से हैण्डलीग हो सके ऐसी होती है।

∎ एल. पि. जी. सोलेओइड व्हाल्व - L. P. G. Solenoid valve

यह सिस्टम इलेक्ट्रोमाग्निटिक coil पर कार्य करती है, एल. पि. जी. गैस आउटलेट चैम्बर पर स्प्रिंग लोडेड व्हाल्व फिटिंग होती है। जब इंजिन बंद होता है, या पेट्रोल सक्शन बंद हो तब LPG इंधन का पुरवठा बंद स्थिति में रखने के लिए स्पिंग का उपयोग करते है। स्पिंग की फिटिंग ड्राईवर सिटपर की होती है।

∎ पेट्रोल सोलेनोइड व्हाल्व - Petrol solenoid valve

जैसे एल. पि. जी. Solenoid इलेक्ट्रोमाग्नेटिक Coil पर कार्य करती है वैसे ही पेट्रोल Solenoid व्हाल्व कार्य करता है। यह व्हाल्व पेट्रोल फ्यूल पम्प और कार्ब्युरेटर के बिच फिटिंग होता है। गैस - पेट्रोल चेंज ओव्हर स्विच को पेट्रोल की दिशा में On किए तो पेट्रोल Supply करने लगता है और गैस Supply बंद हो जाता है। 

LPG System Security and Care - एल. पि. जी. सिस्टम की सुरक्षा और देखभाल 

➣  एल. पि. जी. सिस्टम ट्यूब, पाइप और इलेक्ट्रिक केबल आदि को उष्ण जगह से दूर रखे।

➣  एल. पि. जी. गैस टैंक में भरवाते समय सुरक्षित अंतर रखे। या सम्भवता सभी प्रवासी को कार के बाहर निकाले। और ध्यान रखे की कोई धुम्रपान ना करे।

➣  निश्चित किए हुए लेवल तक ही टैंक भरे, अन्यथा स्पोट हो सकता है।

➣  दिए हुए समय पर गैस और टैंक की जाच करते रहिए।

➣  सभी प्रकार के दिए हुए व्हाल्व की जाच कीजिए।

➣  अगर किसी कारण गैस पर इंजिन की स्थिति बंद हो तो एयर फ़िल्टर व एयर इनटेक सिस्टम की जाच कीजिए।



यह भी जरुर पढ़े 

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts