Tuesday, 11 September 2018

चमत्कारी सौंफ़ - Miraculous fennel

नमष्कार दोस्तों www.apnasandesh.com में आपका स्वागत है। दोस्तों हमारे इस प्रकर्ति में नजाने कई प्रकार के औषधीय पेड़ - पौधे और अन्य वस्तुए है। जो हमारे शरीर में होने वाले बिमारिओ को दूर करने में मदत करते है। दोस्तों ऐसे कुछ औषधीय वनस्पति या अन्य वस्तु जो हम जानते है, लेकिन उनके औषधीय गुणों के बारे में नहीं जानते। दोस्तों अपने दिनचर्या में बदलाव ( जैसे - योगा, फल, आदि का सेवन ) और वनस्पति के आयुर्वेदिक गुण अगर हम जानते है तो वह हमारे जीवन में फायदेमंद है। इसलिए दोस्तों आज इस आर्टिकल में औषधीय गुणोंसे भरपूर सौंफ के बारे में जानने वाले है।

सौंफ एक घरेलू औषधि है जिसमे Copper, Iron, Calcium, Potassium, Magnesium and Zinc और भी कही प्रकार के औषधीय महत्वपूर्ण गुण होते है। जो हमारे सेहत के लिए बहुत लाभदायक होते है। सौंफ के सेवन से कई बिमारिओ में लाभ मिलता है। सौंफ एक महत्वपूर्ण औषधि है जो हमारे शरीर की ( Metabolism ) पाचन शक्ति को बढाती है जिसके माध्यम से कई प्रकार के बीमारिया दूर हो जाती है और साथ ही साथ पेट में ठंडक पैदा करती है। इससे पेट की बीमारिया दूर हो जाती है।


चमत्कारी सौंफ़ - Miraculous fennel

➠ सौंफ हमारे स्वास्थ्य के लिए एक सर्वश्रेष्ठ घरेलु औषधि है। यह कफ , खासी की शिकायते दूर करती है तथा हर उम्र के लोगो के लिए पेट के रोगो में भी बेहत ही फायदेमंद है।

➠ भोजन के बाद सौंफ खाने से पाचनशक्ति और नेत्र की ज्योति बढती है और पेशाब खुलकर आती है।

➠ रात को सोते समय आधा चम्मच सौंफ में एक चम्मच चीनी मिलाकर दूध से फंकी ले तो नेत्र ज्योति बढाती है।

➠ बच्चे के दांत निकलते समय यदि रोता हो तो गाय के दूध में मोटी सौंफ उबाल कर, छान कर बोतल में भर ले तथा एक - एक चम्मच दिन भर के सफर में चार बार पिलाए, इससे दांत आसानीसे निकल जाएंगे।

➠ जिन लोगो के मुँह में छाले होते रहते है, वह खाने के बाद थोड़ी सौंफ का सेवन किया करे तो इससे छाले कम होंगे।

➠ पेट दर्द होने पर सौंफ और सेंधा नमक पीसकर गर्म पानी लेकर उसकी फंकी ले तो इससे राहत मिलेगी।

➠ सौंफ, जीरा, धनिया सभी एक - एक चम्मच लेके दो कप पानी में उबाले, आधा पानी रहने पर छानकर उससे एक चम्मच देशी घी में मिलकर बवासीर रोगी को पिलाने से खुनी बवासीर में लाभ होता है।


➠ पुरे गर्भकाल में सौफ का अर्क पीते रहने से गर्भ स्थिर रहता है।

➠ नीबू के रस में भीगी हुई सौंफ को भोजन के बाद खाने से पेट का भारीपन दूर होता है, और इसका दूसरा एक फायदा याने भूख भी खूब लगती है।

➠ जुकाम से बचने के लिए 10 ग्राम सौंफ, 2 लौंग, 350 ग्राम पानी में उबाले, चौथाई पानी रहने पर देशी घी में मिलाकर घूँट - घूँट पिए, राहत मिलेगी।

⍟ ऑटोमोबाइल वाहन की नई तकनीक और विकास
⍟ वाहनों को इंसानी दिमाग से कैसे चलाए
⍟ अपने आप इंजिन ऑइल कैसे बदले
⍟ इलेक्ट्रिक पंप की मूल जानकारी

➠ सौंफ और धनिया समान मात्रा में पीसले, इसमें डेढ़ गुना घी और दोगुनी चीनी मिलकर रखे, और फिर सुबह शाम 15 - 15 ग्राम सेवन करने से हर प्रकार की खुजली कम होने में लाभ मिलता है।

➠ सौंफ का तेल 5 बूँद आधा चम्मच पीसी हुई चीनी में डालकर नित्य चार बार लेने से आंव आना बंद हो जाती है।

➠ सोते समय आधा चम्मच पीसी हुई सौंफ की फंकी गर्म पानी के साथ लेने से कब्ज दूर होती है।
चमत्कारी सौंफ़ - Miraculous fennel

➠ सौंफ और जीरा समान मात्रा में मिलाकर सेक ले। भोजन के बाद एक चम्मच नित्य चबाने से भोजन आसानी से पांच जाता है व पेट भी हल्का रहता है।

➠ तेज ज्वर होने पर सौंफ पानी में उबाल कर 2 -2 चम्मच बार - बार रोगी को पिलाते रहने से ज्वर का बुखार नही बढ़ता।

⍟ वाहन चलाने के नियम, पंजीकरण और ड्रायविंग लाइसेंस
⍟ Rain Gage बनाने के आसान तरीके
⍟ रस्ता सुरक्षा का महत्व
⍟ सौर ऊर्जा का महत्व

➠ हर दिन सुबह-शाम अगर आप खाली पेट सौंफ खाते है तो खून साफ और त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है, इससे त्वचा में चमक आती है और सुन्दर दिखने लगते है।

➠ बाजार का संक्रमित खाने या पीने से कई बार दस्त हो जाते है। यह दस्त के कारण पेट में गड़बड़ी होने लगती है। दस्त में आंव होती है कभी - कभी आंव के साथ रक्त भी हो सकता है। इस समय सौंफ बड़ी लाभदायक सिद्ध होती है।

➠ सौंफ में इस एनिटोल और सिनेऑल नामक तत्व से इन्फेक्शन को मिटाया जाता है। तथा एंटी बेक्टिरियल गुण भी सौंफ में होते है।
चमत्कारी सौंफ़ - Miraculous fennel

➠ इस तरह सोंफ के उपयोग से पेचिश, आँव और दस्त में बहुत फायदेमंद होती है।

➠ इसके अलावा सोंफ में पाए जाने वाले उपयोगी अमीनो एसिड से पाचन तंत्र को भी ठीक किया जा सकता है।


                                                                                                                              Author by Laxmi...
यह भी जरुर पढ़े 

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts