Saturday, 24 November 2018

सर्दी के मौसम में शरीर को कैसे स्वस्थ रखे - How to keep the body healthy during the winter season

सर्दी का मौसम भारत का सबसे बड़ा और सबसे ठंडा मौसम है। इस मौसम में, वातावरण में ठंडाता चारों ओर फैली हुई रहती है, यह एक अच्छा मौसम है। सर्दियों के महीनों के दौरान, पहाड़ी क्षेत्र में बर्फ गिरने लगते है और सभी जगह का तापमान बहुत ही कम हो जाता है।

सर्दी के मौसम में शरीर को कैसे स्वस्थ रखे - How to keep the body healthy during the winter season

जब हम सर्दी के मौसम में घूमते हैं, तो यह शरीर के लिए बहुत उपयोगी होता है। जब हम सुबह में घूमते हैं, तो हमें सांस लेने के लिए ताजी हवा मिलती है। गर्मियों के मौसम के दौरान, हम विस्तारित समय के लिए काम नहीं कर सकते हैं, लेकिन सर्दियों के महीनों में, हम लंबे समय तक काम कर सकते हैं। इस मौसम में, मच्छरों की भी कोई समस्या नहीं रहती है। गर्मियों के मौसम के दौरान, यह बहुत गर्म होता है जिसके कारण हम बीमार हो सकते हैं, लेकिन सर्दियों के महीनों में, हम बहुत कम बीमार होते हैं। सर्दी का मौसम किसानों के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस मौसम के दौरान, उनकी खेती शानदार हो जाती है।

दोस्तों इस आर्टिकल में सर्दी के मौसम में शरीर को कैसे स्वस्थ रखे, सर्दी के मौसम में लेने वाली सावधानिया, सर्दी के मौसम में दिल की बीमारी वाले व्यक्ति ने किस चीज का ख्याल रखना चाहिए, सर्दी के मौसम में त्वचा में दरार कम होने के टिप्स इनके बारे में हमे मिली हुई जानकारी के मुताबिक आपको बताने जा रहे है।


सर्दी के मौसम में शरीर को कैसे स्वस्थ रखे - How to keep the body healthy during the winter season :

अश्विन-कार्तिक महीने की अवधि शरद ऋतु का आगमन होता है। सूर्य की किरणों के प्रभाव के कारण शरीर में Accumulated bile शरद ऋतु में प्रभावित हो जाता है, और Blood bile के गठन से दूषित हो जाता है। ऐसी स्थिति में, आहार के नियमों का पालन करते हुए, शरीर के लिए यह बहुत जरूरी है।

✥ शरद ऋतु में विशेष रूप से भूख लगने पर, भोजन खाया जाना चाहिए और खाने के लिए भोजन स्वाद में हल्का और स्वादिष्ट होना चाहिए।

यह भी जरूर पढ़े :
✯ जल और मिट्टी को कैसे बचाएं
✯ पर्यावरण संबंधी परेशानियाँ
✯ उल्टी पर करें घरेलु उपचार
✯ जंगल को कैसे बचाए

✥ इस मौसम में, ऐसा भोजन लेना आवश्यक है, जो Gallstone कम करने का कार्य करता है।

✥ शरद ऋतु में, जड़ी बूटी का उपयोग विशेष रूप से फायदेमंद होता है; इसलिए जड़ी बूटी गन्ना या गुड़ और धनिया के साथ खाया जाना चाहिए।

✥ इसके साथ-साथ, चीनी का सेवन भोजन के साथ करना चाहिए जो शरीर के लिए फायदेमंद है।

✥ इस मौसम में, गेहूं, ज्वार, गर्म रोटी, गाय का दूध, मक्खन, घी, क्रीम, चीनी इत्यादि जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन शरीर के लिए फायदेमंद है।

✥ मोंग दाल और सेम भी शरीर के लिए फायदेमंद हैं।

✥ अनार, केला, सिहाडा इत्यादि का सेवन शरद ऋतु में फायदेमंद माना जाता है।

✥ मंकका और कमलगोटा जैसी शीतल सामग्री, जो पित्त को दबाती है, विशेष रूप से इस मौसम में उपयोगी होती है।


✥ इस मौसम में सुबह- सुबह सूरज के कोमल किरणों में शरीर की तेल मालिश करनी चाहिए। तेल मालिस, खासकर हड्डियों से प्राप्त किया जाता है।

✥ इस मौसम में रात के समय जागते रहना और दिन में सोना यह शरीर के लिए हानिकारक है, इसलिए ऐसा न करें और लंबे समय तक कठिन धूप में न बैठें, ठंडी हवा से बचें।

✥ तुलसी, अदरक और काली मिर्च से बने चीनी की चाय का सेवन करने से शरीर को लाभ मिलता है।

✥ भोजन में नींबू जैसे विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का प्रयोग करें।

सर्दी के मौसम में लेने वाली सावधानिया :

✥ इस मौसम में मट्ठा के उपयोग को हानिकारक माना गया है।

✥ कड़वा गाढ़ा, सौंफ़, एसाफेटिडा, काली मिर्च, पीपल, सरसों के तेल आदि चीजों का अधिक इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

✥ उड़द से बने समृद्ध खाद्य पदार्थों का उपभोग न करें। शरद ऋतु में, खांसी आदि जैसे खट्टे और मसालेदार खाद्य पदार्थों का सेवन कम होनी चाहिए।

✥ लोग इस मौसम को ठंडे मौसम के रूप में समझते हैं और कम पानी पीते हैं, जो गलत है, इसलिए पानी का सेवन अधिक करे।

✥ शरद ऋतु में, गर्म और मोटे कपड़े, चादरें आदि जैसे चीजों का इस्तेमाल करे यह शरीर पर ठंड को प्रभावित नहीं होने देता।

✥ आम तौर पर, लोग ठंड होने पर एंटीबायोटिक्स ( Antibiotics ) का उपयोग करते हैं; लेकिन बिना किसी उचित सलाह के इसे प्राप्त करना घातक साबित हो सकता है।

सर्दी के मौसम में दिल की बीमारी वाले व्यक्ति ने किस चीज का ख्याल रखना चाहिए ?

सर्दियों में कम तापमान के कारण, शरीर की नसों का अनुबंध शुरू होता है, जिससे हृदय रोगियों को दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है। नसों के संकुचन के परिणामस्वरूप सीधे रक्त पर रक्त परिसंचरण ( Circulation ) का बोझ होता है, जो हमले की संभावना को बढ़ाता है।

✦ आप चिकित्सकीय दवाओं और चेतावनियों का पालन करें।

✦ खानपान में तेल, घी और नमक का सेवन कम करे।

✦ बीडी, सिगरेट तथा नसेली वस्तु से दूर रहे।

✦ तले हुए पदार्थ का सेवन न करे।

✦ हृदय रोग विशेषज्ञ द्वारा बताय गए व्यायाम नियमित करे।

✦ ठंड से बचाव के लिए चादरों का उपयोग करे।

✦ हल्के गर्म पानी का प्रयोग स्नान करने के लिए करें।

सर्दी के मौसम में मस्तिष्क रक्तचाप के लिए क्या उपाय करना चाहिए ?

ठंड के मौसम में, हम अधिक खाना पीना पसंद करते हैं, ताकि हम तला हुआ और भुना हुआ खाना खा सकें। लेकिन इस खाने से शरीर भारी हो जाता है, और नींद बहुत ज्यादा महसूस करता है। यह सब कारणों से रक्तचाप जैसी बीमारी होने लगती है। इसके प्रभावी परिणामो से मस्तिष्क की नसों या तो फट जाती है या रक्त जमा हो जाता है।

✦ मरीजों को तेल, घी, नमक, चीनी, धूम्रपान का सेवन नहीं करना चाहिए।

✦ भोजन सीमित, पाचन होने लायक और गर्म भोजन का सेवन करना चाहिए।

✦ व्यायाम और प्राणायम उचित रूप से करे।

✦ क्रोध और तनाव से बचें।



यह भी जरूर पढ़े :
❃ योग और घरेलू उपचार के साथ पाचन शक्ति बढ़ाएं
❃ प्रकृति में है, सभी बीमारियों का उपचार
❃ एक्यूप्रेशर का सिद्धांत क्या है
❃ दिमाग का परिचय

सर्दी के मौसम में त्वचा में दरार कम होने के टिप्स

गर्म पानी की कमी और शरीर में पानी की कमी के कारण, त्वचा बहुत कठोर स्थिति में फट जाती है। इससे बचने के लिए गर्म पानी के साथ स्नान करें।

✦ खूब पानी पिए।

✦ स्नान करने के बाद, शरीर पर नमी क्रीम या एलोवेरा जेल लागू करें।

✦ रात में होंठ पर नमी क्रीम लागू करें।

✦ उपयुक्त गर्म कपड़े पहनें, ठंडी हवा से बचें।

✦ ठंड के मौसम में सामान्य गर्म पानी के साथ स्नान करना फायदेमंद है। यह त्वचा में नमी रखता है।

✦ सर्दी के मौसम में स्नान के बाद, नारियल के तेल के साथ त्वचा मालिश करें। यह आपके त्वचा को नरम रखता है।

✦ सर्दी के मौसम में सूरज के कोमल धूप का आनंद लें लेकिन सूरज की रोशनी में बैठें मत। क्योंकि सूर्य की तेज किरणें से त्वचा विकार का कारण बनती हैं। सूरज में बैठने से पहले, सनब्लॉक ( Sunblock ) क्रीम या किसी भी तेल क्रीम लागू करें।


दोस्तों बताये गए जानकारी के मुताबिक अगर आप अच्छे चिकित्सक या डॉक्टर की सलाह लेते है तो यह आपके लिए और आपके शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

यह भी जरुर पढ़े 

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts