Sunday, 2 December 2018

शरीर को मजबूत बनाने के स्वास्थ्य उपाय : Health measures to strengthen the body

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हवा, पानी, आहार, आराम, व्यायाम एवं साफ़ सफाई आदि बातो की जरूरत होती है। जिसके कारण मानव शरीर स्वस्थ रह पाता है।

शरीर को मजबूत बनाने के स्वास्थ्य उपाय : Health measures to strengthen the body

मनुष्य को अपना सारा काम पूरा करने के लिए शरीर की आवश्यकता होती है। जिसका शरीर स्वस्थ है वह अपने सभी काम अच्छी तरह और आसानी से कर पाता है, लेकिन जिसका शरीर अस्वस्थ है वह अपने सभी काम अच्छी तरह और आसानी से नहीं कर पाता है। जिसका शरीर अस्वस्थ है वह प्रभावित नहीं दिख पाता, काम करने की स्पूर्ति नहीं रहती, वह किसी काम के प्रति आत्मविश्वास नहीं रखा पाता। इसलिए आवश्यक है की हम अपने शरीर को स्वस्थ और सुंदर रखे।

प्रकृति में शरीर को स्वस्थ रखने के लिए प्राकृतिक गुणों का संचार है। वायु, जल, मिट्टी, आकाश और अग्नि इन पांच तत्वों से प्रकृति मानव शरीर की रक्षा कर रही है। प्रकृति के इस पांच तत्वों से मानव शरीर की पूर्ति होती है। लेकिन शरीर को स्वस्थ रखने के लिए इसके अलावा अन्य घटको की भी जरूरत होती है। मानव को संसार का सबसे बुद्धिमान प्राणी बताया जाता है। मानव अपने आविष्कारी बुद्धि से दुनिया में विकास करते आ रहा है। लेकिन यह आविष्कार मनुष्यों के लिए फायदेमंद और हानिकारक भी है। इसलिए प्रकृति को स्वस्थ और सुंदर बनाये जो जीवन जीने के लिए महत्वपूर्ण है।

यह भी जरूर पढ़े :
❃ योग और घरेलू उपचार के साथ पाचन शक्ति बढ़ाएं
❃ प्रकृति में है, सभी बीमारियों का उपचार



शरीर को मजबूत बनाने के स्वास्थ्य उपाय : Health measures to strengthen the body

वायु से शरीर को कैसे स्वस्थ्य रखें :

सभी सजीव प्राणी को जीवित रहने के लिए सबसे महत्वपूर्ण घटक हवा है। भोजन के भीना कुछ दिन ज़िंदा रह सकते है, पानी के बिना कुछ घंटे जी सकते है लेकिन वायु के बिना कुछ मिनिट भी जी पाना मुश्किल हो जाता है।

वायु शरीर के लिए उपयोगी है। 

जिस तरह हम साँस लेने के लिए हवा का उपयोग करते है, वह हवा हमारे शरीर में फेफड़ो के माध्यम से खून को साफ़ और स्वच्छ करती है।

✥ साँस के माध्यम से शरीर के दूषित विषाणु बाहर निकलते है, जिससे शरीर का हर एक अंग और खून सुद्ध हो जाता है। इसीलिए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सुद्ध और निर्मल वायु की जरुरत होती है।

✥ सुद्ध और निर्मल वायु शरीर में साँस के माध्यम से उपयोग करने के लिए सुबह और शाम के समय हो सके तो दस - बारा मिनिट गहरी साँस लेने का अध्ययन करे।

✥ प्रकृति ने सभी जीवित प्राणी को स्वस्थ रखने के लिए वरदान पाया है, क्योकि सभी प्रकार के जीवित प्राणी को जीवन प्रकृति से ही मिलता है।

ध्यान में रखे :

✥ रात में सोते समय मुँह से साँस ना लें, इससे शरीर को हानि हो सकती है।

✥ सोते समय चेहरे को खुला रखें जिससे साँस लेने में तख़लीफ़ ना हो। क्योकि मुँह ढाँक कर सोने से जहरीला वायु पुनः साँस के माध्यम से शरीर में प्रवेश करता है जो शरीर के लिए सबसे अधिक हानिकारक है।

✥ दूषित वातावरण से अपना बचाव करें।

जल से शरीर को कैसे स्वस्थ्य रखें :

शरीर को स्वच्छ और सुंदर रखने के लिए जल एक महत्वपूर्ण घटक है। पिया हुआ जल भोजन को पाचन करने के लिए सहायता करता है साथ ही शरीर के मल, पसीने और मूत्र के माध्यम से शरीर के गंदगी को बहार निकालने में सहायता करता है। इसीलिए सुद्ध और स्वछ पानी का सेवन करें जो शरीर के लिए लाभकारी हो।

यह भी जरूर पढ़े :
❃ एक्यूप्रेशर का सिद्धांत क्या है
❃ दिमाग का परिचय



जल ही जीवन है :

पानी जीवन है, इसमें कोई संदेह नहीं है क्योंकि पृथ्वी पर सभी जीवित प्राणियों के लिए पानी एक अमृत की तरह है। पानी के बिना, किसी भी जीवित प्राणी का जीवन संभव नहीं है। हमारी भूमि पर केवल 70 प्रतिशत पानी है। जिसमे सिर्फ 2 प्रतिशत पानी पिने के योग्य है, बाकि पानी खारा है जो पिने के लिए उपयोग नहीं कर सकते है।

✥ हमें वर्षा जल का पानी सिंचाई से संग्रहित कर के भूजल बढ़ाना है।

✥ पेड़ कटाई रोकने के लिए जबरदस्त काकुन बनाना चाहिए और प्रकृति को बचाने के लिए वृक्षारोपण की आवश्यकता है।

✥ हमें अपने दैनिक दिनचर्या में सुधार करने की जरूरत है, क्योंकि हम अलग अलग गतिविधियों का उपयोग कर नदियों और तालाबों को दूषित करते है जिससे जल प्रदूषित हो जाता हैं।

ध्यान में रखे :

ख़राब पानी से ना तो नहाना चाहिए, ना उसे पीना चाहिए।

ख़राब पानी का उपयोग खाने की चीज में ना करे, जैसे सब्जी और फल उगाना, आदि। क्योकि मनुष्य अपने
जीवन में खाने में अधिकतर उपयोग सब्जी और फल का करता है।

सुझाव है की शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आप प्राकृतिक गुणों का इस्तेमाल करें।

हमें अनावश्यक काम में जल के उपयोग को रोकना है, और जल को बचाना है। क्योकि ''जल ही जीवन है''।

मिट्टी से शरीर को कैसे स्वस्थ्य रखें :

मिट्टी में जहर खींचने के लिए प्रकृति से अद्भुत शक्ति की देन है। शरीर का जो भी हिस्सा विकारो से बाधित है हव मिट्टी में डाला जाएगा, तो उस हिस्से का विकार मिट्टी में खींचा जाएगा।

यह भी जरूर पढ़े :
✯ जल और मिट्टी को कैसे बचाएं
✯ पर्यावरण संबंधी परेशानियाँ



मिट्टी का शरीर पर उपयोग :

✥ स्वच्छ गीले मिट्टी को शरीर के रोगग्रस्त अंग पर बांधना चाहिए और फिर इसे थोड़ी देर रखकर बाद में खोला जाएगा, ताकि मानव का शरीर उस मिट्टी से अपने रोगग्रस्त अंग में लाभ पा सकें।

✥ मिट्टी की मदद से, हम स्वास्थ्य सुधार में बहुत मदद कर सकते हैं, स्वस्थ शरीर पाना है तो हमे निर्दोष पवित्र भूमि पर खुले पैर चलना चाहिए ताकि शरीर स्वस्थ हो सकें।

✥ जहां हरियाली, छोटी घास बढ़ रही है, वहां उस जमीन पर अपने शरीर को आराम देने से शरीर में बहुत अच्छे लाभ होता है।

✥ खुले पैर जमीन पर व्यायाम करें ताकि मिट्टी की बहुमूल्य गुणों का लाभ आप अपने शरीर में प्राप्त कर सकते है।

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जरुरी है संतुलित भोजन :

सभी प्रकार के मानव प्राणी के रक्त में क्षार और आम्ल ये दो महत्वपूर्ण बाते पाई जाती है। मानव शरीर के स्वच्छ रक्त में 80 प्रतिशत क्षार होता है और 20 प्रतिशत आम्ल होता है। यदि आम्ल की मात्रा 20 प्रतिशत से अधिक हो गई तो शरीर के खून में दूषित कीटाणु का संचार होने लगता है। जिससे मानव शरीर बीमार हो जाता है।

संतुलित आहार क्या है :

जिस आहार में शरीर के लिए सभी पौष्टिक मूल्यवान पदार्थ योग्य प्रमाण में होते हैं उन्हें संतुलित आहार कहा जाता है। इस संतुलित भोजन में विटामिन, अल्फाटिक पदार्थ, प्रोटीन, क्षार, पानी, अच्छी गुणवत्ता में पाए जाते हैं।

संबंधित कीवर्ड: 
संतुलित आहार क्या है, शरीर को मजबूत बनाने के स्वास्थ्य उपाय - Health measures to strengthen the body, वायु से शरीर को कैसे स्वस्थ्य रखें - How to keep the body healthy by air, जल से शरीर को कैसे स्वस्थ्य रखें - How to keep the body healthy by water, मिट्टी से शरीर को कैसे स्वस्थ्य रखें - How to keep the body healthy from soil . 
यह भी जरूर पढ़े :
✯ उल्टी पर करें घरेलु उपचार
✯ जंगल को कैसे बचाए



दोस्तों, शरीर को मजबूत बनाने के स्वास्थ्य उपाय - Sharir ko majbut banane ke svasthy upay ( Health measures to strengthen the body ) यदि आपको यह आर्टिकल उपयोगी लगता है, तो निश्चित रूप से इस लेख को आप अपने दोस्तों एवं परिचितों के साथ साझा करें।

धन्यवाद।

यह भी जरुर पढ़े 

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts