Saturday, 23 February 2019

जो हुआ वह अच्छा हुआ - whatever happened was good

नमस्कार दोस्तों, apnasandesh.com में आप सभी का स्वागत है। दोस्तों आज के लेख में हम अच्छा विचार या अच्छा सोचने के सकारात्मक गुण तथा जो भी होता है अच्छे के लिए होता है यह प्रकृति का नियम है। इस सिद्धांत को आपको इस लेख के माध्यम से बताने जा रहे है।

जो हुआ वह अच्छा हुआ - whatever happened was good

जो हुआ वह अच्छा हुआ - whatever happened was good

जीवन में कभी हार और कभी जीत होना स्वाभाविक बात है, हार ही हमारे आगे बढ़ने का साधन होता है। अगर व्यक्ति सकारात्मक है तो व्यक्ति के जिवन में सफलता औन निष्फलता उसके जिवन में आती है। ऐसे व्यक्ति उन बातो को चार तरीके से देखते है।

✦ अगर किसी व्यक्ति ने कुछ सिखने की भावना रही है तो वह व्यक्ति छोटीसी बात में भी सिखकर आगे बढ़ सकता है। वह सोचरक की जिवन में संघर्ष, परिस्थीती मुझे कुछ सिखाने के लिए आई हैं।


✦ सघंर्ष, परिस्थितीयां मुझे अनुभवी बना रही है, अनुभव एक अथॉरिटी है। अनुभव से कुछ सुनाते है उसका प्रभाव सुनने वाले पर शक्तिशाली दौर सदा के लिए छांप पड जाती है। बिना अनुभव के वह बाते शक्तिशाली नही होती। जो बात अनुभव से हमारे दिल से निकलेगी वही बात और के दिल को छुयेगी इसीलिए यह एक मौलिक होगी।

✦ परिस्थती हमारा टेस्ट पेपर है, परिक्षा के बिना हमें कोई प्रमाणपत्र नही दिया जाता। फर्स्ट ग्रेड, सेंकड ग्रेड लेने लिये अच्छा मार्क्स लेने लिये और पास का प्रमाणपत्र लेने के लिये परिक्षा देना बहुत ज़रूरी है। परिस्थिती हमे गिराने नही आई। हमने परिस्थिती से कुछ सिखा है और कितना सिखा है, परिस्थितीयां हमारी परिक्षा है कि जिवन में हमने क्या सिखा ? कितना सिखा ? हमें अपनी सत्यता का अहसास कराकर आगे बढाने के लिये आई है।

✦ आध्यात्मिकता हमे सिखाती है - जो होगा अच्छा होगा, जो हुआ वह अच्छा और जो होगा वो और भी अच्छा होगा, और भी अच्छा होगा, और भी अच्छा।

यह भी जरुर पढ़े :-
❃ योग और घरेलू उपचार के साथ पाचन शक्ति बढ़ाएं
❃ प्रकृति में है, सभी बीमारियों का उपचार
❃ एक्यूप्रेशर का सिद्धांत क्या है
❃ दिमाग का परिचय
❃ जल और मिट्टी को कैसे बचाएं
❃ पर्यावरण संबंधी परेशानियाँ
❃ उल्टी पर करें घरेलु उपचार
❃ जंगल को कैसे बचाए


इस पर एक काहानी याद आती है - एक राजा शिकार का बहोत शौक़ीन था। अपने मंत्री और सैनिकों के साथ शिकार के पीछे भागने लगा। भागते समय कांटो के बिच राजा की उंगली कट गई। राजा को दुःख हुआ कि उसकी उंगली कट गई। लेकिन उस वक्त मंत्री ने कहा और सांत्वना दिया महाराज, जरूर इस बात में भी कल्याण है। इसलिए आप चिंता न करें जो हुआ अच्छा हुआ। राजा को गुस्सा आया कि मेरी उंगली कटी और मंत्री बोल रहा है अच्छा हुआ, कल्याण हुआ । यह बात सुनते ही राजा सैनिकों को हुक्म देता है कि मंत्री को कारावास में डाल दिया जाये।

कुछ दिनों पश्चात राजा फिर शिकार पर गया। मंत्री को कारावास में डाल दिया था। राजा अकेला ही सैनिको के साथ निकल पडा। जंगल में शिकार के पीछे दौड रहा था। दौडते दौडते वह अकेला ही बहोत दुर निकल गया। जहा अदिवासी लोग देवी माता पर बलि चढाने कि तैयारी कर रहे थे। उन्होने राजा को पकड लिया उनको मनुष्य की वे बलि अच्छी मानते थे। राजा को देख वह आदिवासी खुश हो गये। राजा को पकड कर बलि चढाने ले गये। बली देने वालों को राजा के हाथों पे ध्यान गया। जिसकी उंगली कटी हुई थी। कटी हुई उगंली देख राजा को छोड दिया। खंडित बली माता को नही चढाई जाती। प्राणदान मिला राजा खुश हो गया। और मंत्री की बात समझ में आई, मंत्रि को कारागर से मुक्त किया।

याने कहने की बात यह है की कुछ बाते हमारे कल्याण के लिए बानी होती है उसमे भी कुछ अच्छी बात रहती है। लेकिन हमारे सोच पर वह निर्भर है की हम क्या सोच रहे है। अच्छा सोचेंगे तो अच्छा होगा इसीलिए कहा जाता है जो हुआ अच्छा हुआ।

तात्पर्य सकारात्मकता का विचार करनेवाला व्यक्ती निरंतर सकारात्मक सोचते हुये सफलता की उंचाईयां को छु लेता है। कोई भी बात हमारे जिवन में आती है। हम उसे किस नजरिये से देखते है। सकारात्मकता एक नजरिया है, उसी से सकारात्मकता या नकारात्मकता का मापदंड होना है।

Tags :- Technology, Technical Study, Online job, Future Tech, Internet, Online Study, Computer, Health, Science, Fashion, Design, Solar System, पौराणिक रहस्य, महान व्यक्तित्व.

संबंधित कीवर्ड :

जो हुआ वह अच्छा हुआ - whatever happened was good, सकारात्मक विचार व्यक्ति का सुख है - Positive thoughts are the pleasures of a person, सकारात्मक सोच इंसान को सफलता दिलाती है - Positive thinking gives success to human beings. 


दोस्तों, उम्मीद है की आपको जो हुआ वह अच्छा हुआ - whatever happened was good यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह आर्टिकल उपयोगी लगता है, तो निश्चित रूप से इस लेख को आप अपने दोस्तों एवं परिचितों के साथ साझा करें। और ऐसे ही रोचक आर्टिकल की जानकारी प्राप्ति के लिए हम से जुड़े रहे और अपना Knowledge बढ़ाते रहे।

धन्यवाद।
                                                                                                                         Author By : BK गीता ...
यह भी जरुर पढ़े :-

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts