Thursday, 2 May 2019

प्राथमिक चिकित्सा कैसे करें - first aid

नमस्कार APNASANDESH.COM में आप सभी का हम हार्दिक स्वागत करते है, दोस्तों आज के लेख में हम बात करते है, प्राथमिक चिकित्सा की जो कभी भी, कही भी, किसी को भी इसकी जरुरत पड सकती है,

प्राथमिक चिकित्सा कैसे करें - first aid - How to do first aid

प्राथमिक चिकित्सा कैसे करें (FIRST – AID) :-

दोस्तों दुर्घटना की समस्या हर समय बनी रहती है इसके लिए चाहे उसे कही भी काम करना पड़े, हर समय डॉक्टर उपस्तित रहे ये संभव नहीं, अचानक दुर्घटना या फिर कोई बीमारी इस अवसर पर घायल व्यक्ति को दिए जाने वाले आवश्यक उपचार को ही प्राथमिक उपचार या प्राथमिक चिकित्सा (FIRST-AID) कहा जाता है.



प्राथमिक चिकित्सा कैसे करे - How to do first aid :-

✦ अगर किसी व्यकी को चोट लगी हो और रक्त स्त्राव हो रहा हो तो उसे रोकने की कोशिश करे,

✦ ज्यादा रक्त बहार आने से घबराहट होती है उस समय, रोगी को गर्म दूध, या काफी देकर रोगी का शरीर गर्म रखना चाहिए,

✦ गलती से किसी ने यदि विषेली चीज खा ली हो तो उसे निकालने की कोशिश करे,

✦ प्राथमिक चिकित्सा में सबसे पहले रोगी का कष्ट दूर करने की कोशिश करे,

✦ डॉक्टर के आने से पहले रोगी को संभव हो तो उसके रोग या फिर चोट को दूर करने की कोशिश करे,

✦ दुर्घटना हुई हो और हॉस्पिटल बहुत दूर होने के कारण एसे स्थिति में चोट लगे रोगी को प्राथमिक उपचार सुरु कर देना चाहिए,

✦ दुर्घटना होने पर रोगी घबरा जाता है, इस समय घायल हुए व्यक्ति को आराम से लिटा देना चाहिए,

✦ घायल व्यक्ति अच्छी तरह से सांस ले सके एसा कुछ करना चाहिए,

✦ यदि घायल व्यक्ति को सांस लेने में तकलीफ हो रही हो तो उसे कृतिम साँस देना चाहिए,

✦ घायल व्यक्ति का सिर थोडा उपर की और रखना चाहिए,

✦ घायल व्यक्ति को दाहिने करवट पर लेटा देना चैहिये,

✦ यदि घायल व्यक्ति खुद पानी पि सके तो उसे थोडा थोडा करके पानी पिलाना चाहिए,

✦ पानी का तुरंत प्रबंध करके घायल व्यक्ति को देना चाहिए,

✦ यदि घायल व्यक्ति दुर्घटना के कारण बेहोश हो जाये तो उसके चेहरे पर थोडा थोडा पानी के छीटे मारने चाहिए,

प्राथमिक उपचार का सामान (FIRST AID MATERIAL) :-

☘ डेटोल
☘ सोडा बाई कार्बोनेट
☘ सूंघने का नमक
☘ बरनोल
☘ दवाई युक्त प्लास्टर
☘ रुई जाली वाला कपडा
☘ सेप्टी पिन ,चाक़ू, कैंची
☘ दवा पिलाने का ग्लास
☘ स्ट्रेचर
☘ पोटेशियम परमेगनेट
☘ बीटाडीन



बिजली का झटका (ELECTRIC SHOCK) प्राथमिक चिकित्सा कैसे करें :-

बिजली के तार को हात लगते ही जोर का झटका लगता है, जिससे मनुष्य बेहोश हो जाता है. कई बार तो मनुष्य बिजली के तार को चिपककर मर जाता है. हमेशा हम देखते है की तार से चिपकने वाले व्यक्ति को बचाने में हम खुद की जिंदगी को संकट में डाल देते है. बिजली के झटके लगे व्यक्ति को बचाने के लिए विशेष ध्यान देना चाहिये.

उपाय - Solution :-

✦ जिस व्यक्ति को बिजली का झटका लगा हो उसे कभी भी हात से छुड़ाने की कोशिश न करे,

✦ इस स्थिति में सबसे पहले मेन स्विच बंद कर देना चाहिए,

✦ और यदि स्विच न मिले तो एक लकड़ी की सहायता से छुडाने की कोशिश करे,

✦ जो व्यक्ति छुड़ाने की कोशिश कर रहा हो उसे भी लकडी पर खड़े होना चाहिए,

✦ रबर का बेल्ट डालकर भी बिजली का झटका लगे व्यक्ति को अलग खिंचा जा सकता है,

✦ जब व्यक्ति बिजली के तार से अलग हो जाये उसे तुरंत हॉस्पिटल ले जाना चाहिए,

✦ यदि व्यक्ति होश में हो तो उसे गरम दूध या चाय काफी देना चाहिए,

✦ यदि व्यक्ति की सांस रूक गयी हो तो उसे कृतिम विधि द्वारा सांस देना चाहिए,

बनावटी सांस की प्रक्रिया (artificial respiration process) :-

☘ मुख से मुख तक (लाबोर्ड विधि) ☘ शेफर विधि☘ सिल्वेस्टर विधि

मुख से मुख तक :-

☛ सबसे पहले हो सके तो अपने गले को साफ़ कीजिये,



प्राथमिक चिकित्सा कैसे करें - first aid

☛ अगर किसी व्यक्ति के मुख में कोई भी बाहरी वस्तु चली जाये तो उसे पीठ के बल लेटा दीजिये,

☛ उस व्यक्ति के मुख को खोलकर अपनी उंगलियों से उसे साफ़ कर ले

☛ शिकार ग्रस्त व्यक्ति के सिर को जादा से जादा पीछे की और लेके जाये,

☛ सिर को पीछे की और झुकाए,

☛ एक हात उस व्यक्ति के माथे के उपर और दूसरा हात उसके ठोड़ी के ऊपर सरकाए,

☛ इस तरह उस व्यक्ति के फेफड़ो में हवा जाने का रास्ता साफ़ होंगा,

☛ अब उसके फेफड़ो में वायु छोडिये,

☛ अब अपना मुख उस व्यक्ति के मुख पर कस कर रख लीजिये,

☛ और अब आप वायु अन्दर की और छोडिये,

☛ वायु बाहर ना निकले इसलिए उसके नाक को जोर से दबाकर रखिये,


☛ अब उसे श्वास लेने दो,

☛ जब वायु छोड़ते है तब उसके छाती को हात लगाकर चेक कर लीजिये,

☛ जब उसकी छाती उठने लगे तो अपना मुख हटा दीजिये,

☛ अगर उसका पेट फूलता है तो वायु भेजना बंद कर दीजिये,

☛ अपने हातो के सहारा से उसकी नाभि और छाती के बिच जोर से दबाइए,

☛ जैसे ही उसे उलटी हो रही हो तो उसका मुख एक तरफ घुमा दीजिये,

उपर लिखे सारे तरीको से रुकी हुई श्वास फिर से आ सकती है.

यह सभी प्राथमिक उपचार करने से पहले आप सावधानी बरते या फिर प्राथमिक उपचार करने का प्रशिक्षण प्राप्त करे, इससे आप अच्छे प्राथमिक चिकित्सक बन सकते है और रोगी को जीवन दान दे सकते है।

दोस्तों, उम्मीद है की आपको प्राथमिक चिकित्सा (FIRST – AID) यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे - मुस्कुराते रहे।                                                                    

 Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Future Tech, Internet, Online Study, Computer, Health, Science, Fashion, Design, Solar System, पौराणिक रहस्य, महान व्यक्तित्व.

संबंधित कीवर्ड :-

प्राथमिक चिकित्सा कैसे करें, प्राथमिक चिकित्सा (first aid), प्राथमिक चिकित्सा कैसे करे, प्राथमिक उपचार कैसे करे, बिजली का झटका (ELECTRIC शॉक्स), उसके उपाय, प्राथमिक उपचार का सामान (FIRST AID MATERIAL), बनावटी सांस की प्रक्रिया (artificial respiration process),

                                                                                                         Author By :- Prashant Sayre Sir 
                                                                                  
यह भी जरुर पढ़े 

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts