Sunday, 26 May 2019

कमर दर्द से कैसे राहत पाएं - How to get relief from back pain

नमस्कार, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है। प्रकृति के नियमों के अनुसार, सभी बीमारियों का इलाज प्रकृति से ही किया जाता है। बस उस प्राकृतिक खजाने को पहचान कर, हम बीमारी को ठीक कर सकते हैं। हमारे पूर्वजों ने इस प्राकृतिक रहस्य को जाना था, इसलिए वे प्रकृति के गुणों का रहस्य जानते थे। हम आज आपके साथ इस खजाने को साझा कर रहे हैं, आशा है कि यह लेख आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

कमर दर्द से कैसे राहत पाएं - How to get relief from back pain

कमर दर्द से कैसे राहत पाएं - How to get relief from back pain, कमर दर्द कैसे होता है - How is the back pain, कमर दर्द के प्राकृतिक उपाय - Natural Remedy of Waist Pain, कमर दर्द होने के कारण क्या है - What is the reason for back pain, कमर दर्द के लिए देशी उपचार - Home remedies for back pain, कमर पर चोट आने पर उपाय योजना कैसे करें जानिए सभी जानकारी हिंदी में।


कमर दर्द से कैसे राहत पाएं - How to get relief from back pain :-

जब कमर में दर्द होता है, तो इसे 'कमर दर्द' कहा जाता है। इस बीमारी में, रोगी बहुत परेशान में रहता है। वह न तो ठीक से खड़ा हो सकता है, न ही कमर सीधी करके बैठ सकता है। उसे कमर में तेज दर्द और चलने फिरने में तकलीफ - कई बार तो रोगी परेशान भी हो जाता है। कंदरासन, आप्तमत्स्यदर्शन, कटिोत्तानासन, धनुरासन, शलभासन और मार्जारसन कमर दर्द के दर्द को दूर कर सकते है। पुरुष और महिला दोनों में यह बीमारी होती है।

और महिलाओ को ठंड, फ्लू, गुरुत्वाकर्षण-पीड़ा से पीड़ित होने, पानी से भीगने, लंबे समय तक काम करने की स्थिति में, ठंडी हवा में चलने-फिरने से लेकर कठिन परिश्रम करने, लंबे समय तक काम करने, स्त्रियों में ऐल्बिनिज़म और मासिक धर्म संबंधी विकारों से पीड़ित होने पर कमर में दर्द अधिक बढ़  जाता है। जब वात के प्रकोप के कारण कमर में दर्द होता है, तो इसे 'कमर दर्द' कहा जाता है। इस रोग में रोगी को बहुत परेशानी होती है। वह ठीक से खड़ा नहीं हो सकता, उसे हल्का बुखार, चलने-फिरने और हिलने-डुलने और कमर में तेज दर्द होता है।

प्राकृतिक उपचार: -

➢ कमर-अगर आपको दर्द है तो गर्म पानी में नमक डालकर कपड़े को भिगोकर कमर को सेंकें!

➢ कमर पर गरम पानी की धार दो मिनट तक छोड़े दें इससे कमर दर्द में लाभ मिलता है।

➢ यदि सर्दी का मौसम है, तो पीट और कमर और 10 मिनट धूप में बैठें। सूर्य के प्रकाश से कमर का दर्द दूर होता है।

➢ जब काम करते हैं, तो सामने के तरफ बहुत अधिक न झुके।

➢ पीठ के बल सोते समय गर्दन, हाथ और पैर सीधे रखना रखें।


➢ सर्दियों में आलू, मेथी, चौलाई न खाएं। सुबह और शाम कमर की मालिस करना न भूलें!

➢ बासी भोजन न करें! गर्मियों में गर्मी। टिंडे, परवल, पलकों का सेवन करना चाहिए।

कमर दर्द के लिए देशी उपचार - Home remedies for back pain :-

घरेलु चिकित्सा :-

✦ योग का अभ्यास करने के साथ-साथ घरेलू उपचार भी करें। यह कमर दर्द में लाभ लाता है।

✦ रात को 60 ग्राम गेहूं पानी में भिगो दें। भीगे हुए गेहू को सुबह में, 30 ग्राम खसखस ​​और 30 ग्राम धनिया डालें और उन्हें पीसकर बारीक पीस लें। इस चटनी को दूध में पकाएं और खीर बनाएं! दो-दो हफ्ते खाने से कमर का दर्द दूर हो जाता है, इससे पाचन शक्ति बढ़ती है।

✦ सुबह उठते ही टॉयलेट जाने से पहले चाय न पिएं, बल्कि गुनगुना पानी पीने के लिए शहद या ग्लूकोज मिला कर पिएं।

✦ वातजन्य कमर दर्द में चार रत्ती बाख का चूर्ण पेठे के रूस में मिलाकर दिन में दो बार सेवन करने से लाभ होता है !

✦ ६० ग्राम सफ़ेद चन्दन का बुरादा और ५० ग्राम गुलाब अर्क ४ घंटे के लिए भीगा दें! अब मिश्री के टेस्ट में चंदन और अर्क को ढाई किलोग्राम मिश्री में मिलाएं और गुलाब का अर्क मिलाकर दो-दो चमच सुभाह-श्याम प्रयोग करे !

✦ ६ ग्राम सौट ६ ग्राम गोखरू –दोनों का काढ़ा बनाकर सुभाह-श्याम पिए !यह कमर दर्द में रामबाण है ! सरशो का तेल २००ग्राम तथा कपूर ३० ग्राम –दोनों को मिलाकर एक शीशी में डालकर धुप में रख दे!थोड़ी देर बाद शीशी को हिलाकर कमर पर तेल की मालिश करे !कमर दर्द ठीक हो जाता है !

✦ 6 ग्राम अदरक 6 ग्राम गोखरू - दोनों बीजों का काढ़ा बनाकर पियें। यह कमर दर्द के लिए उपयोगी साबित होता है।


✦ 200 ग्राम सरसो का तेल और 30 ग्राम कपूर मिलाकर एक शीशी में रख लें और इसे धूप में रखें। थोड़ी देर बाद शीशी को हिलाएं और कमर पर तेल की मालिश करें इससे कमर दर्द ठीक हो जाता है।

✦ ५० ग्राम नारियल का तेल ,दो लहसून की पुती तथा थोड़ी-सी अडूसा की जड़ –तीनो को आग पर अच्छी तरह गर्म करके तेल को छानकर कमर की मालिस करे।

✦ 50 ग्राम नारियल का तेल, दो लहसुन की लौंग और अडूसा की थोड़ी सी जड़ को गर्म करके तेल के साथ कमर की मालिस करें इससे कमर दर्द ठीक होता है।

✦ सौठ और गिलोय - उबले हुए पानी के दो टुकड़ों को बराबर मात्रा में उबालें और फिर इसे ठंडा करके छान लें। दैनिक भोजन के बाद, दो चम्मच मात्रा में लें इससे दर्द में राहत मिलती है।

✦ आम की गुठली की साथ आठ गिरी को आधा किलो सरसों के तेल में पकाए !फिर इसे छानकर इस तेल की मालिस कमर पे करे ! अश्वगंधा चूर्ण दो भाग;सौठ एक भाग तथा मिश्री तीन भाग –तीनो को मिलाकर सुबह श्याम लगभग दो चम्मच की मात्रा में सेवन करे !

✦ आधा ग्राम सरसों के तेल में 8 ग्राम आम की गुठली को पकाएं! फिर इसे तेल को कमर पर लगाने से कमर दर्द में राहत मिलती है।


✦ एक गिलास पानी में 25 ग्राम सूखे आंवले, 50 ग्राम गूढ़ और 10 ग्राम सौंठ को उबालें! फिर इसे छान कर दिन में चार बार पियें!

✦ कमर पर एरंड के पत्तो पर सरसों का तेल लगाकर बांधे इससे कमर दर्द में राहत मिलती है।

✦ गुलदाउदी का एक फूल पीसकर कमर पर मलने से लाभ होता है।

✦ शीशम के पत्ते, ताने की छाल तथा फलिया –तीनो को पानी के साथ पिस ले। फिर इसे थोड़े से नमक और दो लौंग के साथ मिलाकर रात में सोने से पहले इसे कमर पर लपेट लें।

✦ अडूसा के पत्तों पर थोड़ा सा सरसों का तेल, 2 चुटकी हल्दी और दो चुटकी केसर मिलाकर कमर पर सेंकने से दर्द रात भर में दूर हो जाता है।

तो यह कुछ प्राकृतिक उपाय थे जो कमर दर्द में राहत पाने में मदद कर सकते हैं, लेकिन कोई भी उपाय करने से पहले, मैं आपको सलाह दूंगा कि यदि आप अच्छा इलाज करना चाहते हैं, तो किसी अच्छे डॉक्टर से जरूर सलाह लें।

दोस्तों, उम्मीद है की आपको कमर दर्द से कैसे राहत पाएं यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे - मुस्कुराते रहे।                                                                    

 Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Future Tech, Internet, Online Study, Computer, Health, Science, पौराणिक रहस्य

संबंधित कीवर्ड :-
How to get relief from back pain, How is the back pain, Natural Remedy of Waist Pain, What is the reason for back pain, 
                                                                                              

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts