Monday, 6 May 2019

बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया - The process of making biomass fuel

नमस्कार दोस्तों, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है। आज के लेख में, हम पर्यावरण को बचाने के लिए उपयोग किए जाने वाले उपचार बायोमास ईंधन के बारे में जानकारी प्रस्तुत करने जा रहे हैं।

बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया - The process of making biomass fuel

बायोमास कोयला बनाने की प्रक्रिया - Process of making biomass coal :-

बायोमास क्या है - What is biomass :-

बायोमास का जनरल मतलब हम सभी जैविक घटक भी कर सकते है. लेकिन बायोमास यह अवधारणा व्यापक है. हमारे आस-पास बायोमास का अधिक भंडारण है, जैसे की आप जानते है बायोमास एक जैवीक घटक है. बायोमास इंधन सभी प्रकार के जैविक पदार्थ या कचरे से बनता है. जैसे की खेती में निकलने वाला अन्य कचरा, किसी काम में उपयोग ना होने वाले पेड़ के टूटे हुए पत्ते, गन्ने का उपयोग ना होने वाला पाचड , वेस्टेज सब्जी, घर से निकलने वाला वेस्टेज कचरा, इन सभी घटक सर्वसाधारण बायोमास के ही उदहारण है.



लेकिन इन सभी घटको का इस्तेमाल कैसे करे जिससे बायोमास इंधन तैयार हो सके, बायोमास क्या है - What is biomas, बायोमास का उपयोग कैसे करें, बायोमास के विविध प्रकार, बायोमास बनाने की प्रक्रिया, यह हमें पता ही नहीं है. इसलिए हम आपके लिस इस लेख के माध्यम से बायोमास इंधन प्रक्रिया के बारे में जानकारी देने जा रहे, उम्मीद है की यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा.

बायोमास के विभिन्न स्रोत - Various sources of biomass :-

इन सभी जैविक पदार्थ की हमारे आस-पास हर समय उपलब्धता होती है. इन सभी प्रकार के जैविक घटको से हम बायोमास इंधन बना सकते है. जैविक घटकों से तैयार बायोमास को कोयला या लकड़ी का कोयला कहा जाता है. हमारे आस-पास ग्रामीण क्षेत्र में पारम्परिक कोयला स्वाभाविक मिल जाता है. लेकिन बायोमास से तैयार होने वाला कोयला हमारे लिए अधिक उपयुक्त है. साथ ही यह कोयला पर्यावरण को नुकसान भी नहीं पहुँचता है. और इसके उत्पन से आय भी प्राप्त कर सकते है. बायोमास कोयला बनाने के लिए किसी अधिक लगत की जरुरत नहीं है, इसे बनाने के लिए ना किसी अन्य कौशल्य की जरुरत है इसे आसानी से अपने परिसर में बनाया जा सकता है. और इस प्रकार का प्रकल्प अगर हम अपने परिसर में सुरु करते है तो इससे अधिक आय कमा सकते है.

बायोमास कोयला बनाने की प्रक्रिया - Process of making biomass coal :-


पुणे शहर से विकसित हुई है बायोमास बनाने बहुत ही सरल प्रक्रिया, जी हां दोस्तों पुणे शहर से ऐप्रोप्रिएट रूरल टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट (RT) इनके बदौलत एक सरल और कम समय याने 15-20 मिनिट में एक बैच कोयला तैयार करने की प्रक्रिया सुरु की है.

बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया - The process of making biomass fuel :-

☛ टाकाऊ पदार्थ जैसे की खेती से निकलने वाला वेस्टेज मटेरियल कोयला बनाने के भट्टीमे डालें, और ऊपर से आग लगाने के बाद उसके ऊपर कवर और धुराटे लगाए,

☛ इसके कुछ देर पश्चात वह कवर निकाले,

☛ कवर निकालने के बाद अचानक मिलने वाले प्राणवायु से लगने वाली आग को बुझाये और कोयले को ठंडा होने के लिए रखे.

☛ इस भट्टी में गन्ने के पाचाड या विभिन्न जैविक पदार्थ 6 से 7 किलो,

☛ अन्य जैविक पदार्थ के सात बारीक़ वाली लकड़ी 10 से 12 किलो, या हमारे परिसर से निकलने वाला वेस्टेज मटेरियल जैसे, कागज, पाल्यभाजी, घर से निकलने वाला कूड़ा कचरा आदि जो भट्टी में समा सके इतना (साधारण 5 किलो)

बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया - The process of making biomass fuel

☛ इन सभी प्रकार के घटको से 1/3 प्रतिशत कोयला निर्माण होता है.

☛ खेती से निकलने वाला वेस्टेज मटेरियल, कागज, घास, गन्ने का पाचाड, या किसी भी प्रकार के सुके पदार्थ जिससे हम जैविक ईंधन बना सकते है.

☛ इस प्रकार का कोयला हमे छोटे लकड़ी के आकर में प्राप्त होते है जिसे हम अपने खाजगी तथा अन्य कामो के

☛ लिए ईंधन के रूप इस्तेमाल नहीं कर सकते है. इसके लिए उसके अलग आकार के पार्ट बनाते पड़ते है.

☛ इस ईंधन को ब्रिकेट्स नमक यंत्रसे अलग अलग प्रमाण में बनाया जाता है.

भट्टी तैयार करने की प्रक्रिया - Process of furnace preparation :-

✦ तेल के लिए उपयोग किया जाने वाला मेटल का 200 लीटर ड्रम या बैरल लें और उसका उपका का कवर निकाले,

✦ अब उसके निचले हिस्से में 12 इंच चौड़ाई, और 10 इंच ऊंचाई के छेद गिराए,

✦ इस ड्रम में निचले भाग में 8 इंच के दो मेटल रॉड एक बाजू से लेकर दूसरे बाजु तक एक समान लगाए.

✦ क्योकि इसका उपयोग स्टील के बैरल को आधार के रूप में होता है.


✦ भीतर का ड्रम 100 लीटर के आस पास होना चाहिए और यह स्टील से बना होना चाहिए, इस ड्रम के निचले हिस्से में 3/8 इंच Diameter के 6 होल गिराए,

✦ यह ड्रम बड़े ड्रम के अंदर रखे.

जैविक पदार्थों की कार्बनिक प्रक्रिया - Organic process of organic matter :-

✦ अंदर के ड्रम में सभी प्रकार के जैविक पदार्थ भरे जाते है और इसके आकार के साथ 45 मिनिट या 1 घंटे तक इसे गरम किया जाता है, इस प्रक्रिया को technically फायरिंग कहा जाता है.

✦ फायरिंग के बाद ड्रम के अंदर में तैयार कार्बन कोयले को ठंडा होने दे और उसका वजन करे आपके इसका वजन 30 प्रतिशत मिलेगा.

बंधक पदार्थ का निर्माण - Construction of mortgage :-
बंधक पदार्थ याने बाइंडर क उपयोग ब्रिकेट्स strong बनाने के लिए होता है. 100 किलोग्राम वेट के कार्बनीकरण कोयले की 60 से 100 लीटर पानी में 5 से 6 किलो स्टार्च या फिर तवकील मिक्स करके बाइंडर बनाया जाता है. यह सब प्रक्रिया कच्चे पदार्थ के वजन के हिसाब से होता है.

ब्रिकेटिंग प्रक्रिया - Briquetting process :-
तैयार हुए कोयले को हात से या फिर मशीन का उपयोग करके ब्रिकेटिंग किया जाता है. मशीन के उपयोग से एक ही आकार के ब्रिकेटिंग पार्ट तैयार होते है.

बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया - The process of making biomass fuel

सुखाना और पैकिंग करना - Drying and packing :-
तैयार हुए ब्रिकेटिंग को सूर्यप्रकास में सुकाया जाता है. और फिर सूकने के बाद उसे पैक किया जाता है.

इस तंत्रज्ञान के फायदे - Benefits of this technology :-

☞ धुरविरहित प्रक्रिया - यह कोयला बिना धुर किये जलता है.

☞ राख का अनुपात कम होता है ( कोयले के मूल वजन से 5 % कम)

☞ साधारण इस में स्थिर कार्बन प्रमाण अधिक है.

☞ इस प्रकार के कोयले को जलाने की प्रक्रिया के बाद, कोई स्मेल नहीं आती है.

☞ लकड़ी के कोयले के तुलना में यह कोयला अधिक समय जलता है बिना कुछ प्रदुषण किए. आदि

दोस्तों, उम्मीद है की आपको बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया - The process of making biomass fuel यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद...

हसते रहे - मुस्कुराते रहे...

Tags :- Technology, Technical Study, Online job, Future Tech, Internet, Online Study, Computer, Health, Science, Fashion, Design, Solar System, पौराणिक रहस्य, महान व्यक्तित्व.
संबंधित कीवर्ड :-
बायोमास ईंधन बनाने की प्रक्रिया - The process of making biomass fuel, बायोमास ईंधन कैसे बनाए, बायोमास ईंधन बनाने के लिए लगने वाले साहित्य, बायोमास प्राकृतिक ईंधन, बायोमास क्या है?

यह भी जरुर पढ़े :-

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts