Monday, 3 June 2019

विटामिन का परिचय - Introduction to vitamins

नमस्कार, apnasandesh.com पर आप सभी का स्वागत है. दोस्तों फिर एक बार हम स्वास्थ्य संबंधित विटामिन के रहस्यों तथा विटमिन के कमी से होने वाले रोग और उपाय योजना इस लेख के माध्यम से बताने का प्रयास कर रहे है. दोस्तों पिछले लेख में हमने जीवनसत्वे के कार्य और अनुमानित दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी दी थी, उसी लेख को पूरा करते हुए आज हम विटामिन के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे.

विटामिन का परिचय - Introduction to vitamins

विटामिन का परिचय - Introduction to vitamins, विटामिन के फायदे - Benefits of vitamins, विटामिन के कमी से होने वाले रोग - Vitamin deficiency diseases, विटामिन के प्रकार - Types of vitamins, विटामिन के कार्यो का परिचय - Introduction to Vitamin Functions, विटामिन संबंधित जानकारी - Vitamin Related Information, सभी जानकारी हिंदी में.


मानवी शरीर के Good Health के लिए संतुलित आहार महत्वपूर्ण है। बदलते जीवन क्रम के अनुसार बढ़ने वाले प्रदुषण, मिलावटी अन्नपदार्थ, फास्टफूड इन सब कारणों से शरीर में जो रोग का प्रसार होता है उसे कंट्रोल करने के लिए विटामिन से भरपूर खाद्य पदार्थो का सेवन करना जरुरी है.

विटामिन का परिचय - प्रकार - फायदे - Introduction to vitamins :-

डॉक्टरों के अनुसार, कई बीमारियों का कारण विटामिन की कमी हो सकती है. इसका असर हर एक वर्ग के लोगों पर पड़ता है. इसलिए यह जानना जरूरी है की विटामिन के कमी से बीमारिया क्यों होती है और इसपर उपाय योजना क्या है, तो चलिए जानते है विटामिन के बारे में,

Vitamins की कमी से शरीर में कई प्रकार के रोग हो सकते हैं। अन्य प्रकार के विटामिन जैसे Vitamins A, Vitamins B, Vitamins C, Vitamins E, Vitamins D, यह विटामिन के सभी घटक हैं. जो शरीर में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करते हैं. विटामिन की कमी के कारण शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग हो सकते हैं, इसलिए रोगो से मुक्ति पाने के लिए हमें नियमित रूप से भोजन की आवश्यकता है जो Vitamins से भरपूर हो.

Vitamins भोजन का प्रमुख घटक हैं जिन्हें सभी जीवों को थोड़ी मात्रा में आवश्यकता होती है. Vitamins यह Organic Compounds होते हैं. इसलिए इसे Compound Vitamins भी कहा जाता है. जिसे शरीर द्वारा पर्याप्त मात्रा में उत्पादित नहीं किया जा सकता है, लेकिन इसे भोजन के रूप में लेना आवश्यक होता है.

Vitamins के प्रकार :-

विटामिन A :-

विटामिन A मुख्यता दो रूपों में पाया जाता है.
➢ रेटिनॉल
➢ कैरोटीन

आंखों के लिए विटामिन A बहुत ही जरूरी है. यह विटामिन शरीर के कई अंगों में जैसे त्वचा, बाल, कील, ग्रंथि, और शरीर के अनेक अंगों तथा हड्डियों को बजबूत बनाए रखने में मदद करता है.

Vitamins A एक शक्तिशाली विटामिन का सिद्धांत है, अगर विटामिन A की कमी हो तो ज्यादातर लोगों को आंखों की बीमारियां होती है जैसे,
✧ रतौंधी,

✧ आंखों के सफेद हिस्से में धब्बे पड़ना, आदि

विटामिन के फायदे :-

✦ विटामिन A से रक्त में कैल्शियम का स्तर बना रहता है.

✦ हड्डियों को मजबूत करने में भी मदद करता है.

विटामिन A किस तत्वों अधिक मात्रा में पाया जाता है :-

शरीर में विटामिन A की कमी ना हो इसलिए खासकर चुकंदर, गाजर, पनीर, दूध, टमाटर, हरी सब्जियां, पीले रंग के फल आदि विटामिन A की मात्रा बढ़ाने के लिए उपयुक्त है. और विटामिन A भरपूर मात्रा में पाने के लिए इन फलों का उपयोग जरूर करें इससे शरीर में स्पूर्ति बनी रहती है.

Vitamins B :-

विटामिन B शरीर के लिए आवश्यक तत्व है. विटामिन B हमारी कोशिकाओं में पाए जाने वाले DNA निर्माण और मरम्मत में मदद करता है, इसके कई कॉन्प्लेक्स होते हैं..
जैसे,

B1, B2, B3, B5, B6, B7, And B12

✦ यह बुद्धि, रीड की हड्डी और नसों के कुछ तत्वों को बनाए रखने में मदद करता है,

✦ लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण भी विटामिन B द्वारा किया जाता है.

Vitamins B के कमी से होने वाले रोग :-

✤ त्वचा की बीमारियां,

✤ एनीमिया,

✤ मती बंदी जैसी खतरनाक बीमारियां भी हो सकती है.

✤ इसका अनुवांशिक कारण भी हो सकता है,

विटामिन B किस तत्वों अधिक मात्रा में पाया जाता है :-

➢ शाकाहारी लोगों में इसकी कमी आम बात होती है क्योंकि यह विटामिन ज्यादा मासाहारी घटको में पाया जाता है,

➢ विटामिन बी ज्यादातर मांसाहारी पदार्थों में पाया जाता है, जैसे मछली, मीट, अंडा आदि

➢ शाकाहारी लोग इसकी आपूर्ति के लिए दूध और इससे बने पदार्थों या उत्पादों जमीन के अंदर उगने वाली सब्जियां जैसे आलू, गाजर, मूली इन सब पदार्थों से पा सकते है,

➢ इसलिए विटामिन बी के लिए शाकाहारी लोगों ने अधिकतर दूध और जमीन में उगने वाली सब्जियों का सेवन करना चाहिए.

Vitamins C :-

विटामिन C शरीर का एक महत्वपूर्ण घटक है. जो शरीर की बुनियादी रासायनिक प्रक्रियाओं में योंगकी का निर्माण और समर्थन करता है.

➢ तंत्रिका को संदेश प्रेषित करना या कोशिकाओ तक ऊर्जा को प्रसारित करना यह विटामिन सी का कार्य है.

➢ विटामिन सी मानव शरीर के सामान्य कामकाज के लिए बेहद उपयोगी है,

➢ विटामिन सी सभी प्रकार के खट्टे फलों जैसे सिट्रस संतरे, अमरूद, मौसम्बी में पाया जाता है.

विटामिन C की कमी से होने वाले रोग :-

✤ कर्वी नामक रोग हो सकता है

✤ शरीर में थकान,

✤  मांसपेशियों की कमजोरी,

✤ जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द रहना,

✤ मसूड़ों से खून आना और टांगों में झटके पढ़ने जैसे अन्य बीमारियां हो सकती है.

✤ विटामिन C की कमी से शरीर छोटे छोटे बीमारियों से लड़ने की ताकत भी खो देता है.

विटामिन सी किस तत्वों अधिक मात्रा में पाया जाता है :-

✦ विटामिन सी खट्टे रसदार फल जैसे आवेला, नारंगी, संतरा ,नींबू, बेर, पुदीना, अंगूर, कटहल, टमाटर, दूध, सेब, अमरूद, चुकंदर, चौलाई, पालक, इन सभी घटको में विटामिन सी अधिक मात्रा में पाए जाते है.

✦ इसके अलावा दालों में भी विटामिन सी पाया जाता है.

✦ हरी सब्जियां, अंकुरित चने और फल यह सभी भी विटामिन सी के लिए फायदेमंद होते हैं.

Vitamins D :-

➢ विटामिन D यह वास्तविक में सबसे अधिक सूर्य के किरणों से प्राप्त होते हैं और यह शरीर के लिए बेहत ही लाभकारी होता है.


➢ जब हमारे शरीर की खुली त्वचा सूरज के अल्ट्रावायलेट किरणों के साथ संपर्क में आती है तो यह किरणें त्वचा में आकर्षित अवशोषित होकर विटामिन डी का निर्माण करती है.

➢ अगर सप्ताह में दो बार 10 से 15 मिनट तक शरीर की त्वचा पर सवेरे का सूर्य प्रकाश आता है तो अल्ट्रावायलेट किरणें से शरीर में विटामिन डी की पूर्ति होती है.

विटामिन D की कमी से होने वाले रोग :-

✤ विटामिन डी से हड्डियां कमजोर होना,

✤ हाथ पैर की हड्डियां टेढ़ी होना,

✤ मोटापा बढ़ने लगना, आदि

✤ शरीर में विटामिन डी का स्तर कम होने पर जो लोग मोटापे जैसी बीमारी से ग्रस्त हो सकते हैं.

विटामिन डी के कमी से इस प्रकार के रोग हो सकते हैं.

विटामिन D किस तत्वों अधिक मात्रा में पाया जाता है :-

✦ विटामिन डी के लिए दूध, अंडे, चिकन, सोयाबीन, मछलियां, सूर्य प्रकाश के साथ साथ इन सब में भी विटामिन डी की मात्रा रहती है.


Vitamins E :-

➢ शरीर के रोग प्रतिकार क्षमता मजबूत बनाने के लिए विटामिन ई यह एक महत्वपूर्ण घटक है.

➢ शरीर को एलर्जी से बचाए रखना और कोलेस्ट्रोल को नियंत्रण रखने में प्रमुख भूमिका विटामिन ई निभाता है.

➢ विटामिन वसा में घुलनशील होता है.

➢ विटामिन E यह एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में भी कार्य करता है.

➢ इसकी कमी से जनक शक्ति में कमी आ सकती है.

विटामिन E की मात्रा :-

✦ अंडे, सूखे, मेवे, बादाम, अखरोट, सूरजमुखी, के बीज हरी पत्तियां, शकरकंद, सरसों में प्रसाद इन सबके अलावा विटामिन वनस्पति तेल, केहू, हरे साग चना जो, खजूर, आंवला जैसे पदार्थों में पाए जाते हैं.

दोस्तों, उम्मीद है की आपको विटामिन का परिचय - Introduction to vitamins यह आर्टिकल पसंद आया होगा। यदि आपको यह लेख उपयोगी लगता है, तो इस लेख को अपने दोस्तों और परिचितों के साथ ज़रूर साझा करें। और ऐसे ही रोचक लेखों से अवगत रहने के लिए हमसे जुड़े रहें और अपना ज्ञान बढ़ाएँ।

धन्यवाद।

हसते रहे - मुस्कुराते रहे।                                                                    

Tags :- TechnologyTechnical Study, Online job, Future Tech, Internet, Online Study, Computer, Health, Science, Fashion, Design, Solar System, पौराणिक रहस्यमहान व्यक्तित्व.

संबंधित कीवर्ड :-
विटामिन के फायदे - Benefits of vitamins, विटामिन के कमी से होने वाले रोग - Vitamin deficiency diseases, विटामिन के प्रकार - Types of vitamins, विटामिन के कार्यो का परिचय - Introduction to Vitamin Functions, विटामिन संबंधित जानकारी - Vitamin Related Information, विटामिन का परिचय - Introduction to vitamins.

Article By

He is CEO and Founder of www.apnasandesh.com. He writes on this blog about Tech, Automobile, Technology, Education, Electrical, Nature and Stories. He do share on this blog regularly. If you want learn more about him then read About Us page

Popular Posts