फेरोसिमेंट का मूल परिचय - Basic introduction of ferrocement slot - अपना संदेश - Apna Sandesh फेरोसिमेंट का मूल परिचय - Basic introduction of ferrocement slot

फेरोसिमेंट का मूल परिचय - Basic introduction of ferrocement slot

Basic introduction and easy ways to make a ferrocement slot
मानवी संस्कृति में बांधकाम सबसे महत्वपूर्ण घटक है। ऐतिहासिक काल से यह कल्पकता और कौशल्य बांधकाम में चलती आ रही है। इस काल में पत्थर और ईटो की मुख्य भूमिका है। धीरे धीरे मानवी जिव ने बांधकाम में लकड़ी , धातु , और सीमेंट का इस्तेमाल किया। प्रकुर्ति के नियम और प्रकुर्ति के बनावट को समझ के मानव ने बांधकाम में उसका उपयोग किया।



फेरो सीमेंट की मूल जानकारी :-

फेरो सीमेंट एक नविण्यपूर्ण कॉंक्रीटयुक्त बांधकाम है। इस में सीमेंट मॉर्टर , मेटल रॉड ( धातु ), और जाली बनके उपयोग में लाते है। फेरो सीमेंट के अंदर वेल्डमेश और चिकनमेश इनका ढांचा उपयोग में लाते है। फेरो सीमेंट का महत्व उसमे उपयोग में आने घटको पर जैसे , सीमेंट मॉर्टर , रेती , धातु की सल्ली , छोटे तार के चिकनमेश , आदि पर सिमित है।


फेरो सीमेंट के घटक - Components of ferro cement :-

सीमेंट , रती , मॉर्टर , पानी का मिलाव।
धातु की सल्ली।
वेल्डमेश और चिकनमेश का ढांचा।
कोटिंग मटेरियल।

यह आर्टीकल जरूर पढ़े.........

AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  
   NATURE (  प्रकुर्ती  )


फेरो सीमेंट से होने वाले फायदे -
Advantages of Ferro Cement :-

नए बांधकाम में मूलभूत सरचना करते समय कच्चे माल के लिए फेरो सीमेंट का उपयोग करते है।
फेरो सीमेंट से किसी भी आकार की बनावट कर सकते है।
कुशल कामगार की जरुरत नहीं होती।
हलके वजन का होता है। और अगर अच्छे से देखरेख हो तो लम्बे समय तक चल शकता है।
भूकंप रोधक क्षमता है। आदि ,



फेरो सीमेंट कहा उपयोग में लाये जाते है :

➦ घर ( मकान ) बांधकाम ,
➦ समुन्दर बांधकाम ,
➦ खेती के अवजार ,
➦ औद्योगिक रचना,
➦ वहन मार्ग बांधकाम, आदि।

यह आर्टीकल जरूर पढ़े.......
AUTOMOBILE  TECHNOLOGY  
 ELECTRICAL  TECHNOLOGY  
फेरो सीमेंट शीट कैसे तैयार करे :

साहित्य : एम. एस. राउंड बार ,वेल्डिंग रॉड ,चिकनमेश , बाइंडिंग वायर , सीमेंट , रेती , पॉलीथिन पेपर आदि।
सामग्री : एरण , मेझरिंग टेप , वेल्डिंग मशीन , बादली आदि।
टूल्स : छिन्नी , हतोड़ा , मेश कटर , आदि।

➢ राउंड बार के चार भाग दिए गए मेंझरमेंट में छन्नी से काटे।

➢ चार भाग को दिए गए काटकोण में वेल्डिंग करे।

➢ दिए गए माप से चिकनमेश काटे।

➢ बादमे चिकनमेश को फ्रेम के ऊपर बाइंडिंग वायर से बांध ले।

➢ रेती ,सीमेंट और पानी का मिलाव कर के मॉर्टर तैयार करे।

➢ सीधी सपाट भूमि पर पॉलीथिन पेपर रखे और उसपर चिकनमेश फ्रेम रखे।

➢ उसपर मॉर्टर डाले।

➢ डाले हुए मॉर्टर को रॉडिंग करे।

➢ मॉर्टर को सामान करे।

➢ दो घंटे बाद पानी डाले।

➢ बने हुए फेरो सीमेंट शीट के ऊपर 7 या 14 दिन तक पानी डाले।


यह आर्टिकल्स जरूर पढ़े........
   शोध और विकास
       टेक्नोलॉजी